ताज़ा खबर :
prev next

एबीईएस कॉलेज में हुआ “चरनदास चोर” नाटक का आयोजन

गाज़ियाबाद। एबीईएस इंजीनियरिंग काॅलेज में स्पीकमैके अध्याय के अंर्तगत भोपाल के कलाकारों द्वारा ‘‘चरनदास चोर’’ नाटक का आयोजन किया गया। चरनदास चोर हबीब तनवीर का एक प्रसिद्ध नाटक है।

नाटक के माध्यम से चरनदास के तमाम जीवन को दर्शाया गया, विचित्र रूप से चरनदास सिद्धांतों के एक इंसान थे। वह अपने गुरू से चार प्रतिज्ञा करता है कि वह सोने की थाली में कभी नहीं खाएगा, कभी भी जूलूस नहीं ले जाएगा जो कि उनके सम्मान में है, कभी राजा नहीं बनेगा और कभी राजकुमारी से शादी नही करेगा।

नाटक के माध्यम से आगे दिखाया गया कि, उनके गुरू पांचवी प्रतिज्ञा कहते है- कभी भी झूठ नहीं बोलेंगे। उन्हें जीवन की यात्रा एक राज्य तक ले जाती है, जहां विभिन्न घटनाएं उसे प्रसिद्ध करती है और अंत में उन्हें राजनितिक सत्ता दी जाती है, जिसे वह मना कर देता है बाद में स्थानीय राजकुमारी उनपर मंत्रमुग्ध हो जाती है और उससे शादी करने का प्रस्ताव रखती है। चरनदास के इनकार करने पर उसे मार दिया जाता है, वह मानव अस्तित्व में अंतनिर्हित विरोधाभास को दिखाता है, जहां सच्चाई का अस्तित्व असंभव हो जाता है, सच्चा और गलती से सच्चाई के लिए एक जैसे।

इस नाटक ने विश्व थियेटर महोत्सव, एडिनबर्ग में पहला पुरस्कार जीता और दुनिया के 50 से अधिक देशों में और भारत के विभिन्न स्थानों में 100 से अधिक बार इसका मंचन किया गया है। कलाकारों के महान प्रदर्शन के समय एबीईएस ईसी संस्थान के प्रेसीडेंट नीरज गोयल, सलाहकार रघुनंदन कंसल, निदेशक गजेन्द्र सिंह, निदेशक एडमिन डीके शर्मा, आभा स्पीकमेेके की स्थानीय आर्गनाइजर और नीरजा जिंदल अध्यक्ष क्लब उपस्थित थे।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।