ताज़ा खबर :
prev next

यशोदा अस्पताल के डॉक्टरों ने जांच शिविर में बताये बेरियाट्रिक सर्जरी के फायदे

गाज़ियाबाद। यशोदा अस्पताल एंड रिसर्च सेंटर नेहरु नगर में मोटापे एवं मोटापे से होने वाली बीमारियों के लिए 21 मई से 3 जून तक जागरूकता पखवाड़ा मनाया जा रहा है। इसी दौरान रविवार को निशुल्क मोटापा जांच शिविर का आयोजन किया गया। इस कैम्प में 100 से भी ज्यादा मरीजों की जाँच की गई।
इस जागरूकता पखवाड़े के माध्यम से सैकड़ों मरीजों को मोटापा व उनसे होने वाले रोग जैसे हृदय रोग, कैंसर, डायबिटीज, प्रसव के बाद उत्पन्न मोटापा, बच्चों में अधिक वजन होना, पेट पर अतिरिक्त चर्बी के मरीजों को इनसे होने वाले दुष्प्रभाव के बारे में बताया गया।
यशोदा हॉस्पिटल के वरिष्ठ बैरियाट्रिक लैप्रोस्कोपिक एवं गैस्ट्रो सर्जन डॉ. आशीष गौतम ने एक प्रेस वार्ता को सम्बोधित करते हुए कहा कि यशोदा हॉस्पिटल बेरियाट्रिक सर्जरी का दिल्ली एनसीआर में एक प्रमुख केंद्र है तथा विगत वर्षा में अनेक मरीजों की सफलता पूर्वक मोटापे की सर्जरी की जा चुकी है। बेरियाट्रिक सर्जरी महज वजन कम करने का एक शॉर्टकट तरीका नहीं है। यह सर्जरी अधिक मोटापे से छुटकारे के साथ मोटापा जनित रोगों जैसे हाइपरटेंशन, मधुमेह, गठिया जैसे रोगों में भी फायदा पहुंचाती है।
सर्जन ने बताया कि मोटापे एवं उसकी वजह से होने वाली बीमारियों के निदान हेतु यह विशाल शिविर लगाया गया है। इस कैम्प में मोदीनगर, हापूड़, बुलंदशहर, सिकंदराबाद, अलीगढ़, खुर्जा हाथरस, नोएडा, गाजियाबाद से मरीजों ने रजिस्ट्रेशन तथा जांच कराई। इस विशाल जागरूकता अभियान एवं शिविर के आयोजन एवं संचालन में गौरव पांडेय, हेड मार्केटिंग, यशोदा हॉस्पिटल, डॉ. रवि, अरविन्द कुमार, आशीष अग्रवाल, राजेश, अजय चौधरी,  दीपक नेहरा, संजीव त्यागी का विशेष सहयोग रहा।