ताज़ा खबर :
prev next

तालाब की गंदगी ग्रामीणों के लिए बनी मुसीबत

गाज़ियाबाद। सालों से सीकरी गांव के तालाब की न तो सफाई हुई है और न ही तालाब की जमीन को सरकारी स्तर पर कब्जामुक्त कराने की पहल की गई है। इसी के चलते तालाब ग्रामीणों के लिए सुविधा की बजाय मुसीबत बना हुआ है। तालाब से पानी ओवरफ्लो होकर आसपास की सैकड़ों बीघा जमीन में भर रहा है। जिससे किसान लगातार घाटा झेलने को मजबूर हैं।

सीकरी गांव के तालाब की कई सालों से सफाई नहीं हुई है। जबकि इसमें गांव की आधे से अधिक आबादी का गंदा पानी डाला जाता है। तालाब से ओवर होने वाले पानी को बाहर तक पहुंचाने वाले नाले की जमीन पर कुछ दबंगों ने अवैध कब्जा कर लिया है। जिसके चलते इसमें भरा हुआ पानी ओवरफ्लो होकर आसपास के खेतों में भरता है। जिससे दर्जनों किसानों को घाटा झेलना पड़ रहा है।

किसान लागत लगाकर अपनी फसल बोते हैं, लेकिन जरूरत से ज्यादा पानी भरने के चलते फसल खेत में गलकर नष्ट हो जाती है। इतना ही नहीं, तालाब की गंदगी के कारण जमीन से निकलने वाला पानी भी दूषित हो गया है। इसमें जहरीले कीट, मक्खी, मच्छर आदि पनपने से गांव में बीमारी भी फैलनी शुरू हो गई है। लोग लगातार इस विकराल समस्या के समाधान के लिए प्रयासरत हैं, लेकिन सरकारी मशीनरी इसका समाधान कराने के लिए तैयार नहीं है। इसी के चलते अब ग्रामीणों में रोष पनप रहा है।

तालाब की गंदगी से परेशान ग्रामीण किसानों का कहना है कि वे इस मामले में अब आंदोलन करेंगे। ऐसी बदतर जिदंगी जीने का कोई फायदा नहीं है। इस बारे में एसडीएम पवन अग्रवाल का कहना है कि ग्रामीणों ने उन्हें इस समस्या से अवगत कराया था। तालाब की सफाई के लिए प्रयास किया जा रहा है। जल्द ही ग्रामीणों को इस समस्या से निजात दिलाई जाएगी। किसी भी स्तर से ग्रामीणों को परेशानी नहीं होने दी जाएगी।

 

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।