ताज़ा खबर :
prev next

ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे का काम होगा 15 मार्च तक पूरा

गाज़ियाबाद | जनपद गाज़ियाबाद में ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे का काम अंतिम चरण में है और उम्मीद की जा रही है कि एक्स्प्रेस वे का दुहाई से सोनीपत तक वाला हिस्सा 15 मार्च तक बनकर तैयार हो जाएगा। अन्य स्थानों पर चल रहा काम अप्रैल तक पूरा होगा। इस बाबत प्रधानमंत्री कार्यालय को जानकारी दे दी गई। उम्मीद जताई जा रही है हल्के वाहनों के लिए यह एक्सप्रेसवे खोला जा सकता है।

बता दें कि ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे की कुल लंबाई 135 किलोमीटर है। जनपद की सीमा में इस परियोजना की लंबाई 24.5 किलोमीटर है। यह एक्सप्रेस वे कुंडली से पलवल तक बनाया जा रहा है। बागपत के खेकड़ा से यह गाजियाबाद की सीमा में प्रवेश करेगा। हिंडन के पास बींग गांव से रेवड़ी रेवड़ा, मिलक चालकपुर, भिक्कनपुर, मिलक सैंथली, दुहाई, कनौजा, मटियाला, सिकरोड़, डासना देहात आदि से यह गौतमबुद्ध नगर में प्रवेश करेगा। 15 मार्च तक दुहाई से सोनीपत तक एक्सप्रेस वे का काम पूरा कर लिया जाएगा। अन्य स्थानों पर चल रहा काम भी 90 फीसदी तक हो चुका। यह कार्य भी अप्रैल तक पूरा होने की बात कही जा रही है। सूत्रों ने बताया कि कुछ दिन पहले प्रधानमंत्री कार्यालय से इस प्रोजेक्ट की जानकारी मांगी गई। जिला प्रशासन ने दुहाई से सोनीपत तक निर्माण पूरा होने की जानकारी दे दी है। शेष कार्य तेजी से करने की बात कही गई है।
इस प्रोजेक्ट पर सीधे प्रधानमंत्री कार्यालय से नजर रखी जा रही है। पीएमओ प्रोजेक्ट से जुड़ी हर जानकारी प्रशासन और एनएचएआई से ले रहा है। सूत्रों ने बताया कि परियोजना के लिए अधिग्रहित भूमि के मुआवजे की मांग को लेकर किसानों का विवाद हो गया था। पीएमओ ने भूमि से जुड़े सभी विवाद का निस्तारण करने का आदेश दिया। जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी की आर्बिट्रेशन कोर्ट में फाइलें निपटाई जा रही हैं।

क्या आपका जल्दी पहुँचना इतना जरूरी है? जरा सोचिए !

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।