ताज़ा खबर :
prev next

रिश्वत लेकर कराता था अवैध खनन, हिंडन चौकी का प्रभारी हुआ सस्पेंड

गाज़ियाबाद | यदि इच्छा शक्ति हो तो अधिकारी क्या नहीं कर सकते, इस कहावत को गाज़ियाबाद के एसएसपी वैभव कृष्ण ने सिद्ध कर दिया। एसएसपी ने हिंडन चौकी के प्रभारी को रिश्वत लेने के आरोप में दोषी पाया और उसे तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। अभी ज्यादा समय नहीं गुजरा जब किसी पुलिसकर्मी या अधिकारी के खिलाफ रिश्वत या दबाव बनाकर पैसे ऐंठने के आरोप लगते थे तो उसे ठंडे बस्ते में डाल दिया जाता था। पब्लिक अगर ज्यादा शोर मचाती थी तो दोषी व्यक्ति को कुछ दिनों के लिए लाइन हाजिर कर फिर से किसी मलाईदार चौकी पर पोस्ट कर दिया जाता था। मगर वैभव कृष्ण ने आते ही वर्दीधारियों पर लगे हर आरोप को गंभीरता से लेना शुरू किया जिससे लोगों का विश्वास अब पुलिस पर वापस लौट रहा है और वे खुलकर शिकायत करने लगे हैं।

एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि हिंडन चौकी प्रभारी राजेंद्र सिंह के खिलाफ रिश्वत लेने की शिकायत मिली थी। जांच के दौरान दोषी पाए जाने पर राजेन्द्र सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। वहीं एक पीड़ित ने रिश्वत नहीं देने पर एक अन्य पुलिस अधिकारी पर बेरहमी से पीटने का आरोप लगाया है जिसकी जांच अभी चल रही है। सूत्रों के अनुसार अर्थला के इंदिरा प्रियदर्शिनी तालाब में पुलिस के सहयोग से खनन चल रहा था। खनन करने वाले पुलिस को रिश्वत दे रहे थे।

एक सप्ताह पहले पुलिस अधिकारी को इसकी जानकारी हुई तो खनन करने वाले पांच लोगों को हिरासत में ले लिया। आरोप है कि चार लोगों ने पुलिस अधिकारी को रिश्वत दिया। एक ने रिश्वत नहीं दी तो उसकी बेरहमी से पिटाई की गई। हालत गंभीर होने पर उसे वसुंधरा के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उपचार के बाद उसे छुट्टी दी गई। पीड़ित ने डर की वजह से पुलिस के उच्च अधिकारियों से शिकायत नहीं की। उम्मीद है कि एसएसपी वैभव कृष्ण इस मामले में भी निष्पक्ष जांच करेंगे और यदि पुलिस अधिकारी दोषी पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही भी करेंगे।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad
Subscribe to our News Channel