ताज़ा खबर :
prev next

एयरपोर्ट से 18 मिनट में दिल पहुंचा एम्स, समय पर हार्ट ट्रांसप्लांटेशन से बची युवक की जान

नई दिल्ली | राजधानी दिल्ली के व्यस्त ट्रैफिक के बीच एक मरीज की जान बचाने के लिए दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने एक एंबुलेस को ग्रीन कॉरिडोर की सुविधा दी, जिससे जयपुर से लाया जा रहा दिल एयरपोर्ट से केवल 18 मिनट में एम्स पहुंचा दिया गया। ट्रैफिक पुलिस और नागरिकों से मिले इस सहयोग की बदौलत एम्स के डॉक्टरों ने कर्नाटक के 24 साल के युवक की जान हार्ट ट्रांसप्लांट कर बचा ली। डॉक्टर के अनुसार, जयपुर के सवाई मान सिंह अस्पताल में रोड एक्सिडेंट की शिकार 23 साल की महिला का ब्रेन डेड हो गया। काउंसलिंग के बाद उनके परिजन ऑर्गन दान के लिए तैयार हो गए। इसकी सूचना एम्स को मिली।

इसके बाद एम्स से कार्डिएक ट्रांसप्लांट सर्जन डॉक्टर मिलिंद होटे खुद सोमवार की सुबह जयपुर गए। वहां उन्होंने मरीज की बॉडी से दिल निकाला और फिर वहां से फ्लाइट से दिल्ली के लिए रवाना हुए। एम्स ने पहले से ट्रैफिक पुलिस से ग्रीन कॉरिडोर की सुविधा के लिए अनुरोध किया हुआ था। दोपहर 11 बजकर 25 फ्लाइट लैंड हुई और अगले 18 मिनट में 12 किलोमीटर का सफर तय कर एंबुलेंस एम्स पहुंच गई। दिल्ली की सड़कों पर ट्रैफिक का प्रेशर किसी से छिपा नहीं है। हैवी ट्रैफिक के बाद भी पुलिस ने ग्रीन कॉरिडोर की सुविधा दी। इससे एक मरीज की जान बचाने में डॉक्टर सफल रहे।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad
Subscribe to our News Channel