ताज़ा खबर :
prev next

रक्तदान करें, मगर ध्यान से – गाज़ियाबाद में बड़े पैमाने पर चल रही रक्त की कालाबाजारी

गाज़ियाबाद | भारत में इलाज के दौरान समय पर रक्त न मिलने से मरने वाले मरीजों की तादाद अच्छी-ख़ासी है। थेलेसिमिया और हीमोफीलिया जैसी अनेक बीमारियों से ग्रसित मरीजों को भी जीवित रहने के लिए लगातार ब्लड ट्रान्स्फ्यूजन की जरूरत पड़ती है। मानव रक्त की भारी मांग और ब्लड बैंको में स्टॉक की कमी को देखते हुए सरकारें और विभिन्न सामाजिक सामाजिक संगठन समय-समय पर रक्त दान शिविर लगाते हैं। इन शिविरों में जिम्मेदार भारतीय नागरिक रक्तदान कर अपने कर्तव्य का निर्वाह करते हैं।

मगर दुर्भाग्य की बात है कि हमारे गाज़ियाबाद में चंद पैसों के लालच में खून का काला कारोबार करने वालों की कमी नहीं। सच तो यह है कि लाल खून के इस काले कारोबार से शहर के कई सफेदपोश, समाजसेवक और तथाकथित जनसेवक जुड़े हुए हैं। ऐसे ही कुछ सफेदपोशों का खुलासा औषधि विभाग द्वारा शहर के विभिन्न ब्लड बैंकों पर छापे के दौरान हुआ। औषधि विभाग को शुरुआती जांच में यह पता चला है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश से रक्तदान के जरिए लोगों का खून लेकर पूर्वांचल में बेचा जा रहा है। औषधि विभाग का कहना है कि गाजियाबाद के ही कई अन्य ब्लड बैंकों की कुछ शिकायतें मिली हैं, जिन पर जल्द छापा मारा जाएगा।

बता दें कि गाज़ियाबाद के राकेश मार्ग स्थित संगम चैरिटेबल ब्लड बैंक और वसुंधरा स्थित भगवान बुद्ध चैरिटेबल ब्लड बैंक के खिलाफ शिकायतें मिलने पर औषधि विभाग ने छापा मारा था। मानकों का उल्लंघन पाए जाने पर दोनों को सील कर शासन के पास इनका लाइसेंस रद्द करने का पत्र भेजा गया है। हैरानी की बात यह है कि जनपद में विभिन्न संस्थाओं और निजी ब्लड बैंकों की ओर से हर साल कितने रक्तदान शिविर लगाए गए और उनमें मिला खून कहां गया, इसका लेखा-जोखा स्वास्थ्य विभाग के पास नहीं है, जबकि रक्तदान शिविर लगाने से पहले जनपद के सीएमओ से इजाजत लेना अनिवार्य होता है।

इस पूरे मामले पर सीएमओ डॉ. एनके गुप्ता का कहना है कि चोरी छिपे कई संस्थाएं जनपद में रक्तदान शिविर लगा रही हैं, यह मामला संज्ञान में आया है। वहीं औषधि विभाग के ड्रग इंस्पेक्टर जुनाब अली का कहना है कि दिल्ली-एनसीआर में बड़ी संख्या में रक्तदान शिविर लगाए जा रहे हैं। इनमें कुछ वैध और कुछ अवैध रूप से लगाए जा रहे हैं। शुरुआती जांच में यह मामला संज्ञान में आया है कि पश्चिमी यूपी से लोगों रक्तदान शिविरों के जरिए खून लेकर पूर्वांचल में अच्छे दामों पर बेचा जा रहा है। हालांकि अभी कोई पुख्ता सबूत नहीं मिले हैं। सबूत मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad
Subscribe to our News Channel