ताज़ा खबर :
prev next

पर्वतारोही रिजवाना खान ने सरकार से मांगी आर्थिक मदद, जवाब में मिला सिर्फ आश्वासन

गाज़ियाबाद। समाज सेवी शैली सेठी द्वारा बुधवार को बहादुर जाबाज पर्वतारोही “रिजवाना खान” के लिए महिला प्रशिक्षण संस्थान में सम्मान समारोह का आयोजन किया गया । रिजवाना खान अंतर्राष्ट्रीय एशियन ट्रैकिंग काठमांडू नेपाल 2016 में एवरेस्ट एक्पीडीशन के लिए चुनी गई हैं साथ ही 2013 में मांउंट स्टॉक लद्दाख की चोटी जिसकी ऊंचाई 6135 मीटर हैं, पर सफलता पूर्वक तिरंगा फहरा चुकी हैं। यही नही 2015 में माउंट गोल्फ कांगड़ी लद्दाख 6125 ऊंची चोटी पर सफलतापूर्वक राष्ट्रीय तिरंगा फ़हरा चुकी हैं।

रिजवाना खान ने बताया कि अब उनका लक्ष्य एवेरेस्ट के शिखर पर तिरंगा लहराने का है और इस कार्य के लिए उन्हें चुना भी जा चुका हैं,लेकिन इसके लिए उन्हें 32 लाख 18 हजार की रकम जमा करनी हैं। आर्थिक रूप से कमजोर होने की वजह से रिजवाना इतनी रकम का अकेले इंतज़ाम करने में असमर्थ हैं। उन्होंने बताया कि बड़े-बड़े नेताओं और सरकार से भी आर्थिक सहायता मांग चुकी हैं लेकिन वहां से उन्हें सहायता के रूप में केवल उनका पत्र मिला। रिजवाना खान ने बताया की यदि वह रकम का इंतजाम कर लेती हैं तो वे देश की पहली मुस्लिम लड़की होंगी जो एवेरस्ट के शिखर तक पहुंच सकेंगी।

रिजवाना खान के पिता इंतज़ार अली ने बताया की समाज के विपरीत जा कर उन्होंने सदैव अपनी बेटी रिजवाना को आगे बढ़ने दिया परन्तु पैसों के अभाव के कारण वह आगे नहीं बढ़ पा रही। उधर, शैली सेठी ने इस मौके पर कहा कि हमारे देश में लाखों करोड़ो का घोटाला होता है, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के नारे लगते हैं पर जब सच में बेटी आगे बढ़ने निकलती हैं तो कोई उसकी आर्थिक सहायता नहीं करता।

उन्होंने कहा कि उनकी टीम मिलकर रिजवाना खान के लिए सरकार से आर्थिक सहायता की मांग करेगी ताकि वह आगे बढ़ कर पूरी दुनिया में देश का नाम रोशन कर सके।
इस सम्मान समारोह में गाजियाबाद महिला मोर्चा अध्यक्ष पूनम कौशिक को नारी साशक्तिकरण के लिये “नारी सम्मान” और रिजवाना के पिता इंतज़ार अली को भी सम्मानित किया गया। इस मौके पर सुमन सेठी, संजना वाधवा, सुनीता शर्मा, पूनम, आशा व पूजा सहित अन्य लोग मौजूद रहे ।

 

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।