ताज़ा खबर :
prev next

गाज़ियाबाद पुलिस ने सीज़ किए हजारों वाहन, पुलिसकर्मियों पर क्या कार्यवाही हुई – पता नहीं

गाज़ियाबाद | एसएसपी वैभव कृष्ण इन दिनों गाज़ियाबाद में चरमराई हुई कानून-व्यवस्था की स्थिति को पटरी पर लाने की कवायद में दिन-रात एक किए हुए हैं। अभी हाल ही में उन्होंने “आपरेशन चक्रव्यूह” चलाकर 1,524 ऐसे ऑटो रिक्शा और डग्गामार बसों को सीज़ किया और 662 गाड़ियों के चालान काटे। ये सभी वाहन एमवी एक्ट की धारा 207 के तहत सीज़ किए गए जिसका अर्थ यह होता है कि जांच करते समय वाहन चालक के पास वाहन के रजिस्ट्रेशन के कागज़ और लाइसेन्स नहीं था। इस अभियान की बदौलत एसएसपी वैभव कृष्ण की पहले स्थानीय मीडिया और फिर उसके बाद सोशल मीडिया दोनों ही जगह बहुत तारीफ हुई।

बहुत संभव है कि प्रचार के लोभी गाज़ियाबाद के कई परोपकारी संगठन और तथाकथित समाज सेवक एसएसपी के महान अभियानों की सफलता पर उनका जल्द ही नागरिक अभिनंदन भी कर डालें। ये शहर की वे महान हस्तियाँ है जो अभिनंदन के बहाने अधिकारियों के साथ फोटो खिंचवाकर उन्हें लोकल अखबारों में छपवाती हैं और फिर सोशल मीडिया और व्हाट्स एप संदेशों के माध्यम से अधिकारियों को अपना बरसों पुराना पारिवारिक मित्र घोषित कर देती हैं। शहर में किसी भी नए अधिकारी के आते ही इन परोपकारियों को अधिकारी के दफ्तर में पुष्पगुच्छ (बुके) और चमचों की भीड़ के साथ देखा जा सकता है।

शहर में बेतरतीब चलते ऑटो रिक्शा और डग्गामार बसों के खिलाफ अभियान चलाकर एसएसपी वैभव कृष्ण ने सराहनीय पहल की है मगर असली मुद्दों पर जिला पुलिस, प्रशासन, मीडिया और जनता समेत सभी पक्ष खामोश हैं। ऐसा नहीं है कि इन गाड़ियों के चालक बिना गाड़ी के रेजिस्ट्रेशन पेपर और लाइसेन्स लिए सड़क पर पहली बार निकले थे। व्यावसायिक वाहन चालकों को तो खास तौर पर मालूम है कि दुर्भाग्य से सड़क पर आरटीओ या पुलिस का कोई कर्मचारी मिल गया तो सभी कागज रखने के बावजूद भी पैसे लिए बिना नहीं जाने देगा। बहुत से ट्रांसपोर्टर तो यहाँ तक दावा करते हैं कि आप उनके गाज़ियाबाद में चलने या गुजरने वाले किसी भी ड्राईवर के खर्चे का पर्चा देख लो, उसमें हर दिन पुलिस खर्चे की एक एंट्री तो जरूर मिलेगी।
आपरेशन चक्रव्यूह की सफलता पर हम भी एसएसपी वैभव कृष्ण और अभियान में लगे सभी पुलिसकर्मियों और अधिकारियों को बधाई देते हैं, लेकिन
हमारा प्रश्न है कि गाज़ियाबाद पुलिस और यातायात पुलिस के जिन अधिकारियों के क्षेत्र में बिना लाइसेन्स और कागजों के ये 1,524 ऑटो और डग्गामार बसें अब तक आजादी से घूम रहीं थी, क्या जिला मजिस्ट्रेट और एसएसपी गाज़ियाबाद महोदय का उन अधिकारियों पर कोई दंडात्मक कार्यवाही का भी कोई प्रस्ताव है?

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad
Subscribe to our News Channel