ताज़ा खबर :
prev next

पॉल्यूशन की चपेट में गाज़ियाबाद, धूल भरी हवाओं से आठ गुना बढ़ा प्रदूषण

गाज़ियाबाद। शनिवार को जिले में प्रदूषण का स्तर मानकों से करीब आठ गुना अधिक रहा। प्रदूषण का स्तर बेहद खतरनाक स्तर तक पहुंचने के कारण सांस रोगियों, बुजुर्गों और बच्चों को बहुत तकलीफ हुई। प्रदूषण कम करने के लिए प्रशासन की सारी कवायदें फेल साबित हो गई। 2.03 मीटर प्रति सेकेंड की गति से चली हवा ट्रांस हिंडन में पिछले दो दिनों से काफी तेज हवाएं चल रही हैं।

बता दें, शनिवार शाम को हवा की गति 2.03 मीटर प्रति सेकेंड रही। हवा के साथ धूल के कण उड़कर वायुमंडल में मिल गए। इससे हवा बेहद प्रदूषित हो गई। हवा में पार्टिकुलेटेड मैटर (पीएम) -2.5 की मात्रा सामान्य 60 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर से बढ़कर 139.70 हो गई। पीएम-10 की मात्रा सामान्य सौ माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर से बढ़कर 794.34 हो गई। प्रदूषण का स्तर करीब आठ गुना तक बढ़ने से लोगों को बहुत समस्या हुई।

प्रदूषण कम करने के लिए निर्माणों को लेकर नियम जारी हुए हैं। इसके मुताबिक निर्माण स्थल पर पानी का छिड़काव करने, निर्माण व सामग्रियों को ढककर रखने, पक्की सड़क का प्रयोग करने, निर्माण सामग्रियों को ढककर लाने आदि प्रावधान है। ज्यादातर स्थानों पर हो रहे निर्माणों में इन प्रावधानों की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। हवा तेज चलने पर इन निर्माण स्थलों से धूल उड़ रही है। इससे वायुमंडल प्रदूषित हो रहा है।

 

 

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैं। आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।