ताज़ा खबर :
prev next

मुंबईः मां की गोद से फिसला दस महीने का मासूम, एयर होस्टेस ने छलांग लगाकर बचाई जान

नई दिल्ली। हिन्दू लोग कबीर जी का दोहा कहते हैं, “जाको राखे साइयां, मार सके न कोय बाल न बांको कर सके जो जग बैरी होय”  इसका प्रत्यक्ष प्रमाण मुंबई एयरपोर्ट पर देखने को मिला है। मुंबई एयरपोर्ट पर एक एयरहोस्टेस ने जो किया, उसने लोगों को तालियां बजाने के लिए मजबूर कर दिया। मां की गोद से गिरे बच्चे को बचाने के लिए एयरहोस्टेस ने छलांग लगा दी और बच्चे को बचा लिया। दस महीने का बच्चा अगर फर्श पर गिर जाता तो शायद बचने की संभावना न होती, मगर बहादुर एयर होस्टेस ने बच्चे को जमीन पर गिरने नहीं दिया। मुंबई एयरपोर्ट पर पिछले महीने की यह घटना अब जाकर सुर्खियों में आई है, जब बच्चे की मां ने जेट एयरवेज को पत्र लिखकर एयर होस्टेस लड़की की जमकर सराहना की। जिस पर एयर लाइंस ने एयर होस्टेस की पहचान उजागर करते हुए कहा है कि-गर्व है कि एयर होस्टेस हमारे साथ सेवा में है।

घटना पिछले महीने की है, जब एक महिला एक साल के कम बच्चे को लेकर मुंबई से अहमदाबाद की उड़ान पर थी। चेक-इन की औपचारिकता पूरी होने के बाद जब महिला सुरक्षा जांच के लिए पहुंची तो अचानक दुर्घटनावश उसकी गोंद से बच्चा गिर गया, तभी एयरहोस्टेस मितांशी वैद्य की नजर पड़ी और उन्होंने छलांग लगा दी और बच्चे को फर्श पर गिरने से बचा लिया। इस दौरान खुद एयर होस्टेस घायल हो गई, उसकी नाक पर चोट के निशान पड़ गए। बच्चे की मां ने जेट एयरवेज को पत्र लिखकर धन्यवाद कहते हुए एयरहोस्टेस को देवदूत करार दिया है। गुलाफा शेख दूसरी एयरलाइन से सफर कर रहीं थीं।

 

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।