ताज़ा खबर :
prev next

निगम मेट्रो के लिए जीडीए को नहीं देगा पैसा

गाज़ियाबाद। दिलशाद गार्डन टु नया बस अड्डा मेट्रो प्रॉजेक्ट को लेकर जीडीए को बड़ा झटका लगा है। नगर निगम कार्यकारिणी की शनिवार को हुई बैठक में मेट्रो के लिए 247 करोड़ रुपये फंड देने का प्रस्ताव गिर गया। इसके अलावा बैठक में खास परियोजनाओं के लिए पैसा जुटाने को बॉन्ड जारी करने, अवैध डेरी पर प्रति पशु के हिसाब से जुर्माना लगाने और इनका सबमर्सिबल कनेक्शन काटने, निगम के हर बालिका विद्यालय में विज्ञान की कक्षा समेत कई प्रस्ताव सर्वसम्मति से पास किए गए। मेयर आशा शर्मा की अध्यक्षता में कार्यकारिणी की बैठक दोपहर 12 बजे शुरू हुई और 3 बजे तक चली।

नगर निगम की ओर से मेट्रो परियोजना को लेकर बैठक में प्रस्ताव पेश किया गया था। इसमें बताया गया कि निगम सदन ने पूर्व में इस प्रॉजेक्ट के लिए जीडीए को फंड देने का सशर्त प्रस्ताव पास किया था। प्रस्ताव के अनुसार, अथॉरिटी राजनगर एक्सटेंशन एरिया में स्थित नगर निगम की जमीन का पुनर्ग्रहण करेगी और इसका पैसा इस शर्त के साथ निगम के खाते में डालेगी कि वह इसे मेट्रो फंड के लिए जारी कर दे। निगम बोर्ड ने वर्ष 2014 में इस पर सहमति जताई थी।

हालांकि जीडीए ने निगम की जमीन से मिला पैसा शासन के खाते में यह कहते हुए डाल दिया कि सरकारी जमीन का मालिक नगर निगम नहीं यूपी सरकार है। इस प्रस्ताव पर निगम कार्यकारिणी में काफी बहस हुई। इसके बाद प्रॉजेक्ट के लिए पैसा नहीं देने का प्रस्ताव पास हुआ। कहा गया कि अथॉरिटी ने चूंकि निगम की पुनर्ग्रहण जमीन का पैसा शासन को दिया है, इसलिए वह यूपी सरकार से धन की मांग करे।

बैठक में कार्यकारिणी सदस्यों में मेयर आशा शर्मा, नगर आयुक्त सी.पी. सिंह, उपाध्यक्ष सुनील यादव, गजेंद्री देवी, मिथलेश शर्मा, नरेंद्र कुमार, बिजेंद्र सिंह चौहान, प्रवीण, राजेंद्र सिंह तितौरिया, संजीव त्यागी, विनोद कसाना, रेखा जैन, महेंद्र चौधरी, मोहम्मद आसिफ खान आदि शामिल हुए। अफसरों में अपर नगर आयुक्त प्रमोद कुमार मौजूद रहे।

 

 

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad
Subscribe to our News Channel