ताज़ा खबर :
prev next

दलित किशोरी से जबरन धर्म परिवर्तन कराने की कोशिश, 6 लोगों पर केस दर्ज

नई दिल्ली। मेवात के पुन्हाना खंड में 13 वर्षीया दलित किशोरी को बंधक बनाकर रखने, उसका धर्म परिवर्तन कराने, दुष्कर्म की कोशिश व 40 हजार रुपये में उसे एक बुजुर्ग को बेचने की कोशिश करने का मामला सामने आया है। फिलहाल बिछौर पुलिस ने लड़की के पिता की शिकायत पर धर्म परिवर्तन कराने, नमाज पढ़ाने, गोमांस खिलाने, बंधक बनाकर रखने व दुष्कर्म के प्रयास आदि धाराओं के तहत 6 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। मुख्य आरोपी फरजाना, इस्लाम और ताहिर को गिरफ्तार कर सोमवार को अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

पीड़ित दलित किशोरी का परिवार मूलरूप से राजस्थान के डीग की रहने वाला है। वह परिवार के साथ काफी समय से फरीदाबाद में रह रही है। उसके पिता मजदूर हैं। बताया गया कि पिछले दिनों घर में पानी न भरने को लेकर उसकी मां ने उसे मार लगाई थी, जिससे नाराज किशोरी चार अप्रैल को फरीदाबाद स्थित घर से अचानक लापता हो गई। परिजनों ने फरीदाबाद पुलिस में उसकी गुमशुदगी दर्ज करा दी थी।

बकौल किशोरी मां की पिटाई से गुस्सा होकर वह फरीदाबाद से ट्रेन में बैठकर कोसी कलां रेलवे( उत्तर प्रदेश) स्टेशन पहुंच गई थी। वहां उसकी मुलाकात पुन्हाना खंड के गांव सिंगार निवासी फरजाना से हुई, जो भोपाल स्थित अपने मायके जाने के लिए कोसी रेलवे स्टेशन पर ट्रेन का इंतजार कर रही थी। आरोप है कि महिला उसे अपने साथ भोपाल ले गई। महिला 20 अप्रैल को उसे लेकर सिंगार गांव लौट आई, यहां उसका हिंदू नाम बदलकर मुस्लिम कर दिया। लड़की का आरोप है कि महिला ने उसे गोमांस खिलाया, नमाज पढ़ने पर जोर दिया और उसे 40 हजार में इसलाम (70) को बेचने की कोशिश की। उधर, महिला के देवर ताहिर ने उससे  दुष्कर्म का प्रयास किया।

आरोपी महिला दो दिन पहले किसी काम से बाहर गई हुई थी। उसी दौरान उसके देवर ने किशोरी से दुष्कर्म करने की कोशिश की, जिस पर लड़की ने शोर मचा दिया। महिला के लौटने पर किशोरी ने उसे सब बताया। फरजाना ने जब अपने देवर से बात की, तो उसने उसे मारा पीटा। महिला इसकी शिकायत करने बिछोर थाने पहुंची, जहां उसने लड़की का नाम बदलकर उसे अपनी बेटी बताया व थाने में शिकायत दी।

पुलिस ने जब किशोरी से घटना के बारे में पूछा तो उसकी व महिला की भाषा के फर्क को देखकर पुलिस को शक हुआ। बाद में लड़की ने खुलासा किया कि वह घर से भागी हुई है। उसका परिवार फरीदाबाद में रहता है। बाद में लड़की ने अपने साथ हुए जुल्मों के बारे में बताया। उसके बाद पुलिस ने उसके परिजनों को बुलाया और पिता की शिकायत पर छह लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया। वहीं इस पूरे मामले में आरोपी महिला ने खुद को बेकसूर बताया।

जांच अधिकारी एवं सब इंस्पेक्टर राजकला ने बताया कि नाबालिग को बरामद कर लिया गया है। आरोपित फरजाना, इस्लाम व ताहिर को गिरफ्तार कर लिया गया है। बाकी आरोपियों की तलाश जारी है। लड़की का मेडिकल कराया जा रहा है।

 

 

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad
Subscribe to our News Channel