ताज़ा खबर :
prev next

बढ़े वर्क लोड और स्टाफ की कमी से परेशान हैं पासपोर्ट कर्मचारी

गाज़ियाबाद। पासपोर्ट कर्मचारी स्टाफ की कमी और बढ़े वर्क लोड से परेशान हैं। सरकार तक अपनी बात पहुंचाने के लिए ऑल इंडिया पासपोर्ट कर्मचारी संगठन ने छुट्टी के दिन काम कर विरोध करने का निर्णय लिया था। इसी कड़ी में शनिवार को कर्मचारी गाजियाबाद स्थित क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय विरोध स्वरूप काम करने पहुंचे, लेकिन वहां ताला बंद मिला।

संगठन के अध्यक्ष नरेश कुमार ने बताया कि कार्यालय का ताला बंद होने पर सभी कर्मचारियों ने काला रिबन लगाकर विरोध जताया। उन्होंने बताया कि वर्ष 2010 में जब पासपोर्ट सेवा केंद्र की शुरुआत हुई थी। उस वक्त देश भर के पासपोर्ट कार्यालयों में कर्मचारियों की संख्या करीब 2700 थी तब सरकार ने वादा किया था जिस पासपोर्ट कार्यालय से साल भर में एक लाख से ज्यादा पासपोर्ट जारी होंगे। उस कार्यालय में 32 कर्मचारियों की संख्या बढ़ाई जाएगी लेकिन कर्मचारियों की संख्या में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई।

इस समयावधि में करीब 700 कर्मचारी रिटायर भी हो चुके हैं। संगठन के महासचिव गिरिराज शर्मा ने बताया कि रिटायर हुए कर्मचारियों की जगह पर भी तैनाती नहीं की गई है। इसके चलते प्रत्येक पासपोर्ट कर्मचारी पर बेहिसाब काम का दबाव है। पासपोर्ट कर्मचारी 21, 22, 23 मई को तीन दिन काली पट्टी बांधकर काम करेंगे। 24 व 25 मई को लंच टाइम में पासपोर्ट कार्यालयों के गेट के बाहर प्रदर्शन करेंगे। 28 मई को लंच टाइम में कार्यालयों के बाहर कर्मचारी विरोध स्वरूप मुंडन कराएंगे। इसके बाद भी मांगे नहीं मानी जाती है तो सभी पासपोर्ट कर्मचारी 29 मई से आमरण उपवास करेंगे।