ताज़ा खबर :
prev next

केरल में निपाह वायरस से अब तक 16 लोगों की मौत, हाई अलर्ट जारी

नयी दिल्ली। केरल के कोझीकोड में निपाह वायरस से 16 लोगों की मौत हो गई है। यह आंकड़ा स्थानीय मीडिया ने दिया है। मृतकों में एक ही परिवार के चार लोग और इलाज में लगी एक नर्स भी शामिल हैं। चार की हालत गंभीर है। 25 लोगों को निगरानी में रखा गया है। हालांकि, राज्य की स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने अभी सिर्फ तीन मौतों की पुष्टि की है। इस बीच पुणे वायरोलॉजी इंस्टीट्यूट ने खून के तीन नमूना में निपाह वायरस होने की पुष्टि की है। केरल सरकार की गुहार पर एनसीडीसी की टीम केरल पहुंच गई है।

मणिपुर लैब में हुए टेस्ट से यह खुलासा हुआ है कि एक दुर्लभ वायरस, जो आमतौर पर राज्य में नहीं पाया जाता, इन मौतों का जिम्मेदार है। सैंपल पुणे के नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ वायरोलॉजी को भेजे गए हैं, जिससे वायरस की सटीक जानकारी मिल सके। पुणे लैब से नतीजे जल्द ही मिलेंगे।

लोकसभा सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री मुल्लापल्ली रामचंद्रन ने विषाणु के प्रकोप को रोकने के लिए केंद्र से मदद मांगी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा को लिखे पत्र में रामचंद्रन ने कहा कि उनके लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र वताकरा में कुट्टियाडी और पेरम्ब्रा सहित कुछ पंचायत क्षेत्र घातक विषाणु की चपेट में हैं।

सांसद ने बताया कि कुछ डॉक्टर ने बताया है कि यह निपाह नाम का विषाणु है, जबकि अन्य डॉक्टरों ने इसे जूनोटिक वायरस बताया है, जो घातक है और तेजी से फैलता है। रामचंद्रन ने पत्र में कहा है, ‘विषाणु की चपेट में आए लोगों की मृत्यु दर 70 प्रतिशत होती है। बीमारी को बढ़ने से रोकने की जरूरत है।’

केरल सरकार ने निपा वायरस से लोगों की मौत के बाद राज्य में हाई अलर्ट जारी किया है। बतौर रिपोर्ट्स, इस बीमारी के लिए कोई टीका या दवा नहीं है और गहन देखभाल ही एकमात्र उपचार है। वहीं, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने इस संबंध में एक कमिटी बनाई है जो बीमारी की तह तक जाने में जुटी है।

 

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad
Subscribe to our News Channel