ताज़ा खबर :
prev next

पीएम बोले- खराब मौसम की केवल सूचना देना ही पर्याप्त नहीं, सावधानियां भी बताएं

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी हाल के दिनों में आए आंधी-तूफान में सात राज्यों में 200 से ज्यादा लोगों की मौत से काफी चिंतित है। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) से कहा है कि वह जब ज्यादा खराब मौसम की चेतावनी जारी करे तो इसके साथ ही यह सुझाव भी दे कि इस दौरान लोग क्या करें और क्या नहीं।

भू विज्ञान मंत्रालय के सचिव एम राजीवन ने बताया कि खराब मौसम से लोगों की मौत से चिंतित प्रधानमंत्री ने मौसम विभाग से ऐसे हालात में बरती जाने वाली सावधानियों की भी जानकारी दें। हाल ही में भू विज्ञान मंत्रालय और मौसम विभाग के अधिकारियों ने विभिन्न राज्यों में आए आंधी-तूफान और उससे हुए नुकसान की जानकारी पीएमओ को दी थी। पीएमओ और राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) चाहते हैं कि मौसम विभाग द्वारा जारी की जाने वाली चेतावनी ज्यादा स्पष्ट और विस्तार से होनी चाहिए।

अधिकारी ने बताया कि ज्यादा खराब मौसम की चेतावनी जारी करते समय आईएमडी को बताना चाहिए कि स्थिति बहुत गंभीर है और लोगों को अपने घरों के अंदर ही रहना चाहिए और बाहर निकलने से बचना चाहिए। ऐसी सलाह दिए जाने की जरूरत है। केवल लोगों को सूचना देना ही पर्याप्त नहीं है। गृह मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, मई के पहले पखवाड़े में ही तीन पश्चिमी विक्षोभ देखने को मिले हैं। इनकी वजह से आए आंधी-तूफान से सात राज्यों में 204 से ज्यादा लोगों की मौत हुई और 350 लोग घायल हुए।

अकेले उत्तर प्रदेश में 120 से ज्यादा लोग मारे गए। मौसम विभाग ज्यादा खराब मौसम की स्थिति में नाउकास्ट्स जारी करने के साथ अगले दो घंटे में संभावित हालात के बारे भी चेतावनी देता है। आंधी-तूफान के मामले में वह खासकर इलाकों में अगले दो घंटों में हवा की रफ्तार और संभावित बारिश के बारे में भी बताता है।