ताज़ा खबर :
prev next

आयुक्त ने की निर्मल हिंडन अभियान कार्यो की समीक्षा

गाज़ियाबाद। आयुक्त डॉ. प्रभात कुमार ने निर्मल हिंडन अभियान के अन्तर्गत तैयार की गयी कार्य की समीक्षा बैठक की। आयुक्त ने कहा कि रोटी खाने से ज्यादा जरूरी है हिंडन सफाई का कार्य, कुछ इसी मनोयोग के साथ कार्य करें। उन्होंने वर्षा ऋतु से पूर्व हिंडन वन महोत्सव मनाते हुए 13.60 लाख पौधरोपण करने, हिंडन किनारे के ग्रामों में 224 तालाबो का पुर्नजीवन करने के लिये अधिकारीयों को निर्देशित किया।

आयुक्त डा० प्रभात कुमार ने कहा कि हिंडन अभियान के अन्तर्गत मुख्य विकास अधिकारी या अपर जिलाधिकारी के स्तर के अधिकारी को नोडल अधिकारी नामित करें। उन्नेहोंने कहा कि कार्य ऐसा होना चाहिए जो जमीनी स्तर पर दिखायी दें। उन्होंने अब तक के कार्यों पर अपनी
नाखुशी व्यक्त करते हुए बेहतर कार्य करते हुए हिंडन को मिशन मोड में साफ करने के लिये कहा।

आयुक्त ने कहा जो हिंडन आपके पूर्वजों ने आपको सौंपी थी क्या वही हिंडन आप आपने बच्चों को सौंप कर जा रहे है या प्रदूषित हिंडन को छोड़कर जा रहे है, इस पर विचार करें तथा निर्मल हिंडन अभियान से जुडकर उसे निर्मल बनाने में सहयोग करें। आयुक्त ने कहा कि वर्षा ऋतु से पूर्व हिंडन किनारे के ग्रामों में हिंडन वन महोत्सव मानते हुए 13.60 लाख पौधों का रोपण करें तथा उनकी सुरक्षा भी सुनिश्चित करें। आयुक्त ने तालाबों के चिन्हिकरण एवं पुर्नजीवन के लिये हिंडन किनारे के ग्रामों में एक ग्राम-एक तालाब योजना के अन्तर्गत 224 तालाबो को चिन्हित कर उनकों पुर्नजीवित करने के निर्देश दिए। आयुक्त ने कहा कि निमर्ल हिंडन अभियान के अन्तर्गत जभी कार्य किये जा रहे हैं उनकों वैबसाईट पर अपलोड किया जायेगा। नदियों के किनारे बडे भूमि उपलब्ध होने पर वहां बायोडाईवर्सिटी पार्क विकसित करने के लिये निर्देशित किया।

साथ ही जो मीलें कचरा डाल रही हैं, उन पर हर घण्टे पर 20 हजार रूपये का अर्थदण्ड लगाकर फिर उसकी आरसी जारी कर वसूलने के निर्देशित किया तथा इस हेतु नोडल अधिकारी फ्लाईंग आॅफिसर बनायें ताकि वह निरीक्षण कर जुर्माना कर सके। आयुक्त ने सरधना नाले में डेरियो के गोबर गिराने की शिकायत पर वहां काॅमन गोबर गैस प्लांट बनाने पर विचार को निर्देशित किया तथा इस हेतु नाॅन कन्जरवेशन एनर्जी डिपार्टमैन्ट से सहयोग लेने के लिये कहा।

वहीं, अपर आयुक्त जयशंकर दूबे ने बताया कि हिंडन नदी गंगा यमुना नदी के मध्य अवस्थित है। उन्होंने कहा कि नदी का उदगम स्थल जनपद सहारनपुर के मुजफ्फराबाद ब्लाॅक के शिवालिक पहाड़ियों के ढलान पर कालूवाला में स्थित है। उन्होंने बताया कि यह नदी जनपद
सहारनपुर, शामली, मुजफ्फरनगर, मेरठ, बागपत एवं गाजियाबाद से होते हुए जनपद गौतमबुद्धनगर में ग्राम मोमनाथल के समीप यमुना नदी में मिलती है, इस नदी की कुल लम्बाई 355 किमी है।

इस अवसर पर अपर आयुक्त सहारनपुर उदयीराम, अधीक्षण अभियन्ता सिंचाई गाजियाबाद एचएन सिंह, संयुक्त निदेशक कृषि सुनील कुमार, जिला विकास अधिकारी, मेरठ दिग्विजय नाथ पाण्डेय, सेवानिवृत्त आईएफएस डीवी कपिल, सीडीओ मुजफ्फरनगर सहित प्रदूषण नियंत्रण विभाग व अन्य विभाग के अधिकारीगण, एनजीओ प्रतिनिधि आदि उपस्थित रहे।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Subscribe to our News Channel