ताज़ा खबर :
prev next

खुलासा : वर्चस्व की लड़ाई को लेकर की गई थी निशांत की हत्या

गाज़ियाबाद। कविनगर थाना क्षेत्र के रहीसपुर गांव में 7 जून को गोली मारकर की गई पार्षद के भतीजे निशांत चौधरी की हत्या वर्चस्व की लड़ाई को लेकर की गई थी। इस मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपित को गिरफ्तार कर उसके पास से हत्या में प्रयुक्त पिस्टल व दो कारतूस बरामद किए हैं। पकड़े गए आरोपित का एक साथी फरार है, पुलिस उसे तलाश रही है। पुलिस का कहना है कि आरोपित और मृतक के बीच पूर्व में भी विवाद हुआ था।

एसपी सिटी आकाश तोमर व सीओ सिटी द्वितीय आतिश कुमार ने प्रेसवार्ता में बताया कि पकड़ा गया आरोपित रहीसपुर गांव निवासी विक्रांत उर्फ विक्की है। वर्तमान में वह मेरठ रहता है और उसके पिता ब्रजपाल उत्तर प्रदेश पुलिस में सिपाही हैं और वर्तमान में मेरठ एलआईयू में तैनात हैं। जबकि घटना में शामिल उसका साथी रहीसपुर गांव निवासी अंकित अभी फरार है। उसकी भी तलाश की जा रही है।

थाना प्रभारी कविनगर प्रदीप त्रिपाठी ने बताया कि मृतक निशांत और आरोपितों के बीच पूर्व में भी किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ था। झगड़े के अगले दिन विक्की और अंकित ने निशांत को फोन कर माफी भी मांगी थी। सात जून की रात करीब साढ़े 8 बजे भी आरोपितों ने माफी मांगने के बहाने ही निशांत को फोन कर घर के बाहर बुलाया। इस दौरान उनके बीच दोबारा मारपीट हो गई। इस दौरान आरोपितों ने निशांत की गोली मारकर हत्या कर दी और मौके से फरार हो गए। सीओ सिटी द्वितीय आतिश कुमार ने बताया कि पकड़ा गया आरोपित विक्रांत आपराधिक प्रवृति का है। पूछताछ के दौरान उसने छह जून को सिहानी गेट थाना क्षेत्र स्थित डीपीएस कट के पास कैंटीन संचालक नरेश को पैर में गोली मारने की बात भी कबूली है।

पुलिस का कहना है कि आरोपित विक्की अपने साथियों के साथ वहां खाने पीने गया था। कैंटीन मालिक द्वारा पैसे मांगने पर आरोपी उसके पैर में गोली मारकर फरार हो गया था। नरेश की शिकायत पर सिहानी गेट थाने में केस दर्ज किया गया था। गिरफ्तारी के बाद नरेश ने भी विक्की की पहचान की है।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Subscribe to our News Channel