ताज़ा खबर :
prev next

धर्म के नाम पर अपमान पर मंत्रालय सख्त, दंपती को मिला पासपोर्ट

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के रतन स्कवैयर स्थित पासपोर्ट सेवा केंद्र में एक महिला द्वारा पासपोर्ट अधिकारी पर धर्म के नाम पर अपमानित करने का आरोप लगाने के बाद अब विदेश मंत्रालय ने इस मामले पर सख्ती दिखाई है। सूत्रों के अनुसार, इस मामले के सामने आने के बाद विदेश मंत्रालय ने आरोपी पासपोर्ट अधिकारी का तबादला कर दिया है। इसके साथ ही कार्यालय ने इस मामले पर पासपोर्ट कार्यालय से रिपोर्ट भी मांगी है। साथ ही कपल को पासपोर्ट भी दे दिया गया है।

बता दें कि बुधवार को लखनऊ के पासपोर्ट सेवा केंद्र में बुधवार को एक महिला ने पासपोर्ट अधिकारी पर धर्म के नाम पर अपमानित करने का आरोप लगाया था। उन्होंने इस मामले को लेकर प्रधानमंत्री कार्यालय और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को भी ट्वीट किया था। तन्वी का आरोप था कि वह बुधवार को अपने पति और 6 साल की बच्ची के साथ पासपोर्ट बनवाने गई थीं। इस दौरान शुरुआती दो काउंटरों (ए और बी ) पर उनके आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो गई, लेकिन जब वह तीसरे काउंटर पर पासपोर्ट अधिकारी विकास मिश्र के पास गईं तो वह उनके धर्म को लेकर अपमानित करने लगे।

एक ही सरनेम करने की सलाह पर विवाद
तन्वी ने आरोप लगाया कि वहां मौजूद कुछ अन्य कर्मचारी भी उनकी खिल्ली उड़ाने लगे। जब वह काउंटर सी-5 पर पहुंचीं तो हालात और बिगड़ गए। विकास मिश्र ने दस्तावेज देखने के बाद मुसलमान से शादी के बारे में सवाल-जवाब शुरू कर दिए। उनका यह बर्ताव तन्वी को नागवार गुजरा। इसी दौरान उनके पति अनस सिद्दीकी भी उनके पास पहुंच गए। आरोप है कि विकास ने अपमानित करते हुए दोनों को एक ही सरनेम करने की सलाह दे डाली। तन्वी और अनस ने इसका विरोध किया। जब स्थितियां नहीं संभली तो तन्वी ने विदेश मंत्रालय से इस मामले की शिकायत करते हुए केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज को अपने ट्वीट में इस विवाद की जानकारी दी।

मंत्रालय ने पासपोर्ट कार्यालय से मांगी रिपोर्ट
इसके बाद हरकत में आए अधिकारियों ने पहले तो दंपति से लिखित शिकायत मांगी। वहीं दूसरी ओर मामले पर मीडिया में जारी विवाद के बीच मंत्रालय ने हरकत में आते हुए पासपोर्ट अधिकारी विकास मिश्र का तबादला कर दिया। इसके साथ ही मंत्रालय ने इस संबंध में अब लखनऊ के पासपोर्ट कार्यालय से रिपोर्ट भी तलब की है।

पासपोर्ट कार्यालय ने घटना पर दी सफाई
वहीं गुरुवार को इस मामले पर सफाई देते हुए लखनऊ के क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी ने कहा कि आरोपी अधिकारी विकास मिश्र को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। इसके अलावा अनस और तन्वी को उनके पासपोर्ट मुहैया करा दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि नोटिस का जवाब मिलने के बाद आरोपी अफसर पर कार्रवाई की जा सकती है और हमारी कोशिश होगी कि ऐसी घटनाएं भविष्य में कभी ना हो सकें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Subscribe to our News Channel