ताज़ा खबर :
prev next

खुलासा : भाई को सबक सिखाने के लिए पीएम मोदी को जान से मारने की दी थी धमकी, अरेस्ट

गाज़ियाबाद। लोनी से बीजेपी विधायक नंदकिशोर गुर्जर की फेसबुक वॉल पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जान से मारने की धमकी देने के आरोपित को साइबर सेल की मदद से लोनी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस का दावा है कि गली में खेलने के दौरान दो भाइयों में विवाद हुआ और एक ने दूसरे को फंसाने के लिए उसके नाम से पीएम को धमकी दे दी। इसके लिए उसने महाराष्ट्र के एक शख्स की फेसबुक आईडी हैक की थी। एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि आरोपित का नाम सलमान है और वह लोनी का ही रहने वाला है। उसके पास से एक मोबाइल फोन बरामद हुआ है, जिससे वह फेसबुक आईडी हैंडल करता था।

पुलिस ने बताया कि, सलमान का डेढ़ साल पहले अपने रिश्ते के भाई नदीम से झगड़ा हो गया था। खेल-खेल में विवाद शुरू हुआ और बात मारपीट तक पहुंच गई। सलमान का आरोप है कि इसके बाद नदीम और उसके परिवारवालों ने उसकी स्कूटी पर हमला कराया था और लूट की थी। तब सलमान ने नदीम को किसी बड़े मामले में फंसाने की धमकी दी थी।

एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि, अपने भाई को सबक सिखाने के लिए सलमान नए-नए तरीके सोचने लगा। उसने यूट्यूब पर फेसबुक अकाउंट हैक करने से जुड़े कई विडियो देखे। इस दौरान उसे पता चला कि कई लोग अपने फोन नंबर को ही आईडी बना लेते हैं, जबकि कुछ लोग अपनी आईडी से अपना कॉन्टैक्ट नंबर अटैच कर देते हैं और उसे शो कर देते हैं यानी उनकी फेसबुक वॉल पर जाने वाले सभी लोगों को उनका फोन नंबर दिखता है।

इन्हीं जानकारियों के आधार पर सलमान फेसबुक पर आईडी तलाशने लगा। इस दौरान उसे महाराष्ट्र के किसान नईम का अकाउंट दिखा। नईम को सोशल मीडिया के बारे में अधिक जानकारी नहीं है। उसने किसी और से अपना अकाउंट बनवाया था। सलमान ने कई आईडी हैक करने का प्रयास किया और संयोग से नईम की आईडी हैक हो गई। उसने आईडी का नाम नदीम कर दिया और फिर 16 जून को विधायक नंदकिशोर गुर्जर की एक पोस्ट पर कॉमेंट बॉक्स में पीएम को धमकी दी।

सलमान ने नदीम के साथ उसके भाई इदरीश को भी फंसाने की साजिश रची थी। लोनी थाना प्रभारी उमेश पांडेय ने बताया कि पीएम को धमकी देने के बाद आरोपित ने इदरीश के नाम की फेक प्रोफाइल बनाकर कई अभद्र कमेंट किए।

पुलिस को प्रारंभिक जांच में पता चला था कि जिस अकाउंट से धमकी दी गई है, वह महाराष्ट्र के किसी शख्स की है। इस पर पुलिस टीम नईम के पास पहुंच गई। वहां पता चला कि मामले में नईम खुद पीड़ित है। उसे पुलिस के माध्यम से ही पता चला कि उसका फेसबुक अकाउंट हैक किया गया है।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Subscribe to our News Channel