ताज़ा खबर :
prev next

स्विस बैंकों में भारतीय नागरिकों की जमापूंजी पहुंची ₹ 7,000 करोड़, सुब्रमण्‍यन स्‍वामी ने बताया ईडी के इस अधिकारी को दोषी

गाज़ियाबाद | पिछले एक साल में भारत के नागरिकों द्वारा विभिन्न स्विस बैंकों में एक अरब स्विस फ्रैंक (₹ 7,000 करोड़) के आसपास पहुँच गया। पिछले चार सालों में यह धनराशि सबसे अधिक है। स्विट्ज़रलैंड के केंद्रीय बैंक द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार यह धनराशि पिछले साल की तुलना में 50 प्रतिशत से भी अधिक है। ताजा आंकड़ों के जारी होने के बाद विपक्ष के साथ-साथ मोदी सरकार के अपने ही कुछ सलाहकार और सांसद भी सरकार पर हमलावर हो गए हैं।

सरकार पर हमला बोलने वाले सांसदों में भाजपा सांसद सुब्रमण्‍यन स्‍वामी प्रमुख हैं। स्वामी ने इस मामले में एक बार फि‍र से वित्त मंत्रालय पर निशाना साधा है। उन्होंने एक ट्वीट करते हुए लिखा कि वित्त सचिव अधिया के लिए एक बड़ी कामयाबी, एक तरफ पूरी दुनिया का स्विस बैंक में डिपोजिट सिर्फ 3 फीसदी बढ़ा है, तो भारतीयों का 50 फीसदी बढ़ गया है। अधिया इससे बेहतर मैनेज कर सकते थे, अगर राजेश्वर (ईडी अफसर) बीच में ना आते।
सुब्रमण्‍यन स्‍वामी के इस हमले को एक बार फिर से वित्‍त मंत्री अरुण जेटली के खिलाफ हमला देखा जा रहा है। इससे पहले भी अरुण जेटली पर प्रत्‍यक्ष या अप्रत्‍यक्ष रूप से हमला बोलते रहते हैं। बता दें कि पहले तीन साल स्विस बैंकों में भारतीयों के जमा धन में लगातार गिरावट आई थी। जहां एक ओर भारत सरकार विदेशों में काला धन रखने वालों के खिलाफ अभियान चलाए हुए है, वहीं अपनी बैंकिंग गोपनियता के लिए पहचान बनाने वाले इस देश में भारतीयों के जमा धन में ऐसे समय दिखी बढ़ोतरी हैरान करने वाली है।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad
Subscribe to our News Channel