ताज़ा खबर :
prev next

सरकारी अस्पताल में नहीं हैं एंटी रैबीज इंजेक्शन, नगर निगम जिम्मेदार

गाज़ियाबाद। मेरठ मंडल के अपर निदेशक स्वास्थ्य डॉ. अखिलेश अग्रवाल ने सोमवार को जिला एमएमजी अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। साफ-सफाई और रजिस्टर मेंटेन नहीं होने पर उन्होंने स्टाफ को जमकर फटकार लगाई। इस दौरान गाज़ियाबाद समेत यूपी के कई जिलों में एंटी रैबीज इंजेक्शन खत्म होने को लेकर पूछे गए सवाल पर अपर निदेशक ने नगर निगम को जिम्मेदार ठहरा दिया। उन्होंने कहा कि पहले काफी मात्रा में इंजेक्शन सप्लाई किए जा रहे थे, लेकिन इन दिनों कुत्ते, बिल्ली और बंदरों की संख्या तेजी से बढ़ गई है। नगर निगम को कार्रवाई करके इन्हें पकड़ना चाहिए और शहरवासियों को इनसे सुरक्षित रखना चाहिए। इन जानवरों के काटने के कारण मरीज बढ़ गए हैं। हालांकि उन्होंने आश्वासन दिया कि जल्द ही अस्पतालों में इंजेक्शन की सप्लाई की जाएगी।

डॉ. अखिलेश सुबह करीब 11 बजे अस्पताल पहुंचे। वह सबसे पहले ओपीडी में गए। मरीजों को ठीक से लाइन लगाने के लिए कहा। निरीक्षण के दौरान कई जगह गंदगी पाए जाने पर स्टाफ को फटकार लगाई। फिर वॉर्ड में बेड और स्टॉफ की जानकारी ली। मरीजों से उनके स्वास्थ्य के बारे में भी पूछा और इलाज के बारे में जानकारी ली। इमरजेंसी वॉर्ड में उपस्थिति रजिस्टर में कमियां मिलीं, जिसे दूर करने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य डॉ. रेनू गुप्ता भी मौजूद थीं।

जिला अस्पताल में निरीक्षण के दौरान एडी को लखनऊ में होने वाली एक बैठक के बारे में पता चला। इस पर वह निरीक्षण बीच में ही छोड़कर चले गए। डॉ. रेनू गुप्ता ने कहा कि जिला अस्पताल के अलावा उन्हें ब्लड बैंक, महिला अस्पताल व जिला संयुक्त अस्पताल भी जाना था।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Subscribe to our News Channel