ताज़ा खबर :
prev next

मेरठ : भ्रष्टाचार के खिलाफ किया सबसे तेज प्रहार- डीजीपी ओपी सिंह

मेरठ। डीजीपी ओपी सिंह ने पुलिस प्रशासन में हो रहे भ्रष्टाचार को लेकर खुलकर बयान दिया है। उन्होंने कहा कि, भ्रष्टाचार पर हमनें सबसे तेज प्रहार किया है। भ्रष्टाचार की जो भी शिकायतें मिली, उस पर आला अधिकारियों ने त्वरित एक्शन लिया। पिछले कुछ माह में 20 पुलिसकर्मियों की सेवा समाप्त की गई और 40 आदमी रिश्वत लेते हुए ट्रेप किए गए हैं। इतना ही नहीं, एंटी करप्शन को कार्रवाई के लिए टारगेट भी फिक्स कर दिया गया है। एंटी करप्शन, एटीएस और एसटीएफ को ज्यादा मजबूत किया जा रहा है। जनता को अच्छा काम करके दिखा रहे हैं, ताकि पुलिस विभाग का गौरव बरकरार रहे।

डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि अपराधियों को सजा दिलाने के लिए इन्वेस्टीगेशन और विवेचना को बेहतर बनाना होगा। इसके लिए पुलिस को ट्रेनिंग दी जा रही है। एनआईए और सीबीआई से संपर्क किया गया है। दोनों एजेंसी यूपी पुलिस को इन्वेस्टीगेशन और विवेचना का सही सलीका सिखाएंगे। इस तरह से अपराधियों को घेरा जा सकेगा। सबूत जुटाए जा सकेंगे, ताकि कोर्ट में दोष सिद्ध कराया जा सके। कई अन्य जगह से भी ट्रेनिंग की व्यवस्था कराई जा रहा है। इसके बाद अभियोजन को मजबूत किया जाएगा, ताकि कोर्ट में पैरवी की जा सके।

डीजीपी ने बताया कि संगठित अपराध को रोकने और अपराधियों पर काबू करने के लिए एसटीएफ और एटीएस को मजबूत किया जा रहा है। नए पद बढ़ाए जा रहे हैं और सुविधाएं दी जा रही हैं। जिस तरह से एसटीएफ और एटीएस ने पिछले कुछ समय में टेरर फंडिंग, स्लीपिंग मॉड्यूल्स पर शिकंजा, नकल कराने वाले सॉल्वर गिरोह का पर्दाफाश और अध्यापक भर्ती घोटाले का पर्दाफाश किया, उससे पता चलता है कि पुलिस काम कर रही है।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Subscribe to our News Channel