ताज़ा खबर :
prev next

अब कूड़ा डालने की समस्या होगी दूर, जब करेंगे ये उपाय

नोएडा में पिचले कुछ दिनों से कूड़े को लेकर मचे घमासान के बाद अब कई सेक्टर व सोसायटियों के लोग इस समस्या के समाधान के लिए आगे आ रह हैं। सेक्टर-47 के आरडब्ल्यूए ने ऐरोबिक पद्धति से, सेक्टर-50 की एटीएस-1 और सेक्टर-77 की प्रतीक विस्टेरिया में ड्रम कंपोस्टिंग से कचरे का प्रबंधन किया जा रहा है। जिसका परिक्षण रविवार को किया गया।

900 रेजिडेंट्स ने सेक्टर-47 में आरडब्ल्यूए के सहयोग से आपस में कलेक्शन करके करीब 8 लाख की मशीन खरीदी है। गीला और सूखा कचरा अलग-अलग लेना शुरू कर दिया गया है। सूखे कचरे को रिसाइकिलिंग के लिए भेजा जा रहा है और गीले कचरे को मशीन में ठोस अपशिष्ट बनाने के बाद प्राकृतिक कचरा प्रबंधन की ऐरोबिक तकनीक का इस्तेमाल कर खाद बनाई जा रही है। इस मशीन के साथ कई बड़े बिन मिले हैं। जिनमें 15 दिन में खाद तैयार हो जाती है। आरडब्ल्यूए के कंसल्टेंट प्रवीण नायक ने बताया कि चार दिन में सेक्टर-47 जीरो वेस्ट वाला सेक्टर बन गया है। खुद रेजिडेंट्स अपनी जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। प्राकृतिक कचरा प्रबंधन का यह बेहद सस्ता और आसान तरीका है।

वहीं, सेक्टर-50 स्थित एटीएस-1 सोसायटी में ड्रम कंपोस्टिंग तकनीक पर आधारित प्राकृतिक कचरा प्रबंधन शुरू कर दिया गया है। यहां पर 15 ड्रम लगाए गए हैं। लोग गीला और सूखा कचरा अलग-अलग बिन में रख रहे हैं। यहां रेजिडेंट्स ने कचरा प्रबंधन विशेषज्ञ मेवालाल की मदद ली है। यह लोग भी खुद से अपनी जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। यहां भी मात्र चार दिन में सोसायटी का कूड़ा पूरी तरह से मैनेज होने लगा है। यहां तरल खाद और ठोस खाद को पेड़-पौधों में इस्तेमाल किया जाएगा।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Subscribe to our News Channel