ताज़ा खबर :
prev next

₹50,000 में बेचते थे नवजात शिशु, मिशनरीज़ ऑफ चैरिटी की नन ने कबूला गुनाह

मिशनरीज़ ऑफ चैरिटी के रांची केंद्र में काम कर रही दो ननों ने नवजात शिशुओं को बेचने की बात कबूल ली है। रांची पुलिस के अनुसार नोबल पुरस्कार विजेता मदर टेरेसा द्वारा शुरू की गई संस्था मिशनरीज़ ऑफ चैरिटी की एक नन अणिमा और सिस्टर कोनसिलिया ने यह बात कबूल कर ली है कि उन लोगों ने मिलकर बच्चे बेचे थे। पुलिस के सामने अपना गुनाह कबूल करते हुए सिस्टर कोनसिलिया ने कहा है कि उसने 50-50 हजार रुपयों में दो बच्चों को बेचा है जबकि एक बच्चे को एक लाख बीस हजार रुपये में बेचा था। लेकिन एक अन्य बेचे गए बच्चे की पूरी जानकारी उसके पास नहीं है। रांची पुलिस इस मामले में बेचे गए तीन बच्चों को पहले ही बरामद कर चुकी है।

नन के कबूलनामे के अलावा एक वीडियो भी सामने आया है। इस वीडियो में संस्था की एक कर्मचारी सिस्टर कोनसिलिया यह कबूल करते हुए नजर आ रही हैं कि उसने बच्चे बेचे हैं जबकि एक बच्चे को बिना पैसों के यानि मुफ्त दे दिया था। सिस्टर कोनसिलिया ने वीडियो में यह भी कहा है कि बच्चा बेचने की बात उसने किसी को भी नहीं बताई थी और इस बारे में सिस्टर (हेड सिस्टर) को भी नहीं मालूम था। केवल मैं और करिश्मा ही जानते थे।
अणिमा इन्दवार की तरफ से दिए गए कबूलनामे में लिखा है कि अणिमा इस संस्था में पांच साल से काम कर रही थी और उसने सिस्टर कोनसिलिया के साथ मिलकर बच्चों को बेचा है। जानकारी के मुताबिक रांची पुलिस ने बच्चों की बिक्री के मामले में मदर टेरेसा की संस्था मिशनरी ऑफ चैरिटीज़ की सिस्टर एवं कर्मचारी को पूछताछ के लिए चार दिनों की रिमांड पर लिया है। जिससे पूरे रैकेट का पर्दाफाश किया जा सके।

कबूलनामे में नन अणिमा ने यह बात भी लिखी है कि उसने किसके बच्चे को किसे और कितने रुपयों में बेचा था। उसने जिन चार बच्चों को बेचे जाने की बात कबूल की है, वो सभी के सभी लड़के थे। यही नहीं एक बच्चा नन ने एक लाख बीस हजार रुपयों में बेचने की बात कबूल की है लेकिन उसका कहना है कि उसमें से 20 हजार रुपये उसने अपने पास छुपा लिए थे और बाकी के एक लाख रुपये उसने सिस्टर कोनसिलिया को दे दिए थे। हालांकि इस मामले में गिरफ्तार सिस्टर कोनसिलिया ने भी अपने वकील को बताया कि वह बच्चों को बेचने में कहीं से भी शामिल नहीं है। उन्होंने दावा किया कि पुलिस ने अणिमा को अपने दबाव में लेकर यह बयान लिया है कि उन्होंने बच्चों को बेचा था।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad