ताज़ा खबर :
prev next

ट्रिपल तलाक के विरोध में बोलकर फंसी मुख्तार नक़वी की बहन, बरेली के इमाम ने दी इस्लाम से बेदखल करने की धमकी

बरेली के एक मुफ़्ती ने भारतीय जनता पार्टी के नेता और केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नक़वी की बहन फरहत नक़वी समेत दो महिलाओं को इस्लाम से बेदखल करने की धमकी दी है। दूसरी महिला का नाम निदा खान है। मुफ़्ती का कहना है कि इन दोनों महिलाओं ने तीन तलाक की प्रथा के खिलाफ आवाज उठाई है जो इस्लाम धर्म के खिलाफ है। शुक्रवार को साप्ताहिक संबोधन में मुफ्ती खुर्शीद आलम ने कहा था कि इन दोनों महिलाओं को इस्लाम से बेदखल कर दिया जाएगा। निदा खान आला हजरत परिवार से ताल्लुक रखती हैं और मुफ़्ती के बयान का जवाब देते हुए उन्होंने कहा है कि धर्म के ये ठेकेदार तब कहां थे जब मुस्लिम मुहिलाओं को तीन तलाक, निकाह हलाला, और बहुविवाह के नाम पर सताया जा रहा था।

निदा खान ने कहा कि वे इन धमकियों से डरने वाली नहीं हैं। उन्होंने कहा कि वे इंसाफ और मुस्लिम महिलाओं के लिए लड़ती रहेंगी। निदा ने कहा, “इस्लाम दोनों की इजाजत नहीं देता है, ना तो आप किसी को प्रताड़ित कर सकते हैं, और ना ही आपको अपराध बर्दाश्त करना चाहिए, अब हजारों निदा सामने आ चुकी हैं और उनके आवाज को दबाया नहीं जा सकता है।” निदा ने कहा कि ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड अंग्रेजों के कानून के तहत बनाया गया था और इसे मुस्लिम समाज पर कानून बनाने का कोई अधिकार नहीं हैं।

बता दें कि केन्द्रीय मंत्री मुख्तार अब्बा नकवी की बहन फरहत और निदा दोनों अलग अलग संगठन चलाती हैं। ये संगठन मुस्लिम महिलाओं को न्याय दिलाने का काम करता है। इन संगठनों के पास तीन तलाक, हलाला, बहुविवाह से पीड़ित महिलाएं आती हैं। मुस्लिम समाज में काम करने और स्थापित दकियानूसी नियमों का विरोध करने की वजह से इन संगठनों को कई बार धमकियां मिल चुकी हैं। निदा ने कहा कि इस्लाम पर किसी का कॉपीराइट नहीं हैं। उन्होंने बताया कि वे इस्लाम को मानती हैं, जो कि 1400 साल पहले आया था, ना कि पर्सनल लॉ बोर्ड को। निदा के मुताबिक वे बेटियों और मुस्लिम महिलाओं के लिए लड़ती रहेंगी। उन्होंने कहा कि इन लोगों ने महिलाओं को हमेशा से अपने अधीन रखा है, लेकिन अब वक्त बदल गया है।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad