ताज़ा खबर :
prev next

अब फास्ट ट्रैक कोर्ट में होगी डेंगू के मामलों की सुनवाई

गाज़ियाबाद में बारिश शुरू होते ही जिला मलेरिया विभाग ने डेंगू मच्छर के खिलाफ अभियान छेड़ दिया है। इस बार कड़ी तैयारी की गई है। अबकी बार रेजिडेंशल और कमर्शल प्लेस में डेंगू मच्छर का लार्वा मिला तो नोटिस जारी करने के साथ मैजिस्ट्रेट उस पर सुनवाई करेंगे। प्रशासन की ओर से नामित मैजिस्ट्रेट के अधीन फास्ट ट्रैक कोर्ट भी बनाई जाएगी। नोटिस का जवाब नहीं देने और कार्रवाई न करने पर 10 हजार रुपये तक जुर्माना या 6 माह तक की सजा या दोनों हो सकती है।

जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. जीके मिश्रा ने बताया कि विभाग के लिए अलग से मैजिस्ट्रेट नियुक्त करने का प्रावधान है। ये मैजिस्ट्रेट ही विभाग की ओर से जारी नोटिस पर सुनवाई कर जुर्माना व सजा तय करेंगे। डीएम से मैजिस्ट्रेट तैनात किए जाने की मांग की जाएगी। मैजिस्ट्रेट नामित होने के बाद सुनवाई और सजा हो सकेगी। अभी पूरी कार्रवाई नोटिस देने तक सिमट जाती है।

डीएमओ ने बताया कि डेंगू का लार्वा मिलने पर विभाग नोटिस जारी करके एक दिन का समय देगा। अगले दिन उस जगह फिर से जांच होगी। यदि दूसरी जांच में भी डेंगू का लार्वा मिला तो उस जगह के मालिक पर जुर्माना लगाया जाएगा। जुर्माना जमा नहीं करने पर संबंधित थाने में केस दर्ज होगा और फिर नामित मैजिस्ट्रेट की अदालत में सुनवाई होगी। उन्होंने उदाहरण देकर बताया कि अगर किसी पटाखा फैक्ट्री में डेंगू का लार्वा मिलता है तो उस पर वही धारा लगेगी, जो सुरक्षा नियमों का पालन नहीं करने पर लगाई जाती है।

जिला मलेरिया अधिकारी ने बताया कि बरसात शुरू होने के साथ ही डेंगू लार्वा की खोज के लिए टीमों का गठन कर दिया गया है। नगर निगम के पांच जोन, मोदीनगर, मुरादनगर, लोनी, डासना में टीमों का गठन करके अभियान शुरू कर दिया गया है। ऊंची इमारतों वाले राजनगर एक्सटेंशन और क्रॉसिंग रिपब्लिक में विशेष अभियान चलाया जा रहा है।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Subscribe to our News Channel