ताज़ा खबर :
prev next

कश्मीरी बच्चों को आतंकवाद की आग में झोंकने के आरोप में 13 शिक्षकों पर हुई कार्यवाही

जम्मू-कश्मीर के बारामूला जिला में 13 शिक्षकों को बच्चों को आतंकी बनने के लिए उकसाने के आरोप में 13 शिक्षकों को हिरासत में ले लिया गया है। ये सभी एक निजी स्कूल के शिक्षक हैं और वायरल हुए कुछ वीडियो में ये शिक्षक 13-14 साल के बच्चों को जानदाफरन के जंगलों में रहकर आतंकी गतिविधियों में शामिल होने के लिए उकसाते नज़र आ रहे हैं। यह मामला जुलाई के पहले हफ्ते का बताया जा रहा है।

वीडियो में कुछ बच्चे मौत को गले लगाने वाले गाने गाते-बजाते दिखे, जबकि कुछ आतंकियों जैसा बर्ताव कर रहे थे। उन्हें देखकर लग रहा था कि मानो वे किसी आतंकी हमले के लिए तैयार हों। हालांकि, इस मुद्दे पर स्कूल ने बात करने से इन्कार कर दिया। बारामुला में मुख्य शिक्षा अधिकारी अब्दुल अहमद घनी ने ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ को बताया कि वह मामले की जांच कराएंगे। स्कूल प्रबंधन के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी।

बच्चों से जुड़े वीडियो वायरल होने पर पुलिस फौरन हरकत में आई। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि इस तरह की घटनाओं को बच्चों का दिमाग बरगलाने के लिए अंजाम दिया गया है, ताकि उन्हें भविष्य में आतंकी बनाया जा सके। सूत्रों के अनुसार, रविवार को कुछ बुजुर्गों की दखल के बाद 13 में से 11 शिक्षकों को कड़ी चेतावनी के बाद पुलिस ने जाने दिया। वहीं, दो के पास से आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गई। उन्हीं में से एक ने बच्चों का वह वायरल वीडियो शूट किया था।

आपको बता दें कि पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद और हिजबुल मुजाहिद्दीन ने कश्मीरी बच्चों का इस्तेमाल किया है। वे घाटी में भारतीय सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में उन्हें आजमा चुके हैं। संयुक्त राष्ट्र (यूएन) की रिपोर्ट में भी कुछ दिन पहले इस बात का जिक्र हो चुका है।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad