ताज़ा खबर :
prev next

जनऔषधि केंद्र खुला, 600 मरीजों ने खरीदी दवाएं

एमएमजी अस्पताल के परिसर में खुले जनऔषधि केंद्र से दवाएं लेने के लिए सोमवार को मरीजों की भारी भीड़ रही। दोपहर दो बजे तक करीब 600 मरीजों ने यहां से जेनेरिक दवाएं खरीदी। यही नहीं यहां पर एंटी रैबीज इंजेक्शन के मौजूद होने से पहले दिन करीब 30 एंटी रैबीज यहां से मरीजों ने लिए। अभी तक जिले के सभी सरकारी अस्पतालों और ब्लॉक स्तर पर एंटी रैबीज न होने के कारण मरीजों को परेशान होना पड़ रहा था।

लेकिन वहीँ एक समस्या और उभर गई, जन औषधि केंद्र के संचालक मनवीर ने बताया कि चिकित्सक जनऔषधि केंद्र को सहयोग नहीं कर रहे हैं। कई मरीजों के पर्चों पर इस तरह से दवाएं लिखी गई थी, जिसे समझना बेहद मुश्किल था। ऐसे में जब उन्होंने एमएमजी अस्पताल के चिकित्सकों से पर्चे पर साफ तरह से दवाएं लिखने के लिए कहा तो उन्होंने मरीजों के पर्चें फाड़कर फेंक दिए।

वहीं महिला अस्पताल में भी कई चिकित्सकों ने जेनेरिक दवाएं न लिखकर बाहर के मेडिकल दुकानों से दवाएं लिखीं। इस पर भी उन्होंने नाराजगी जताई। उन्होंने बताया कि केंद्र को शुरू करने से पहले ही हर चिकित्सक से उसके द्वारा लिखी जाने वाली दवाओं की लिस्ट ले ली गई थी। ताकि मरीजों को दिक्कत न हो। इसके बावजूद चिकित्सकों को जेनेरिक दवाएं लिखने में क्या दिक्कत हो रही है, इस पर बात की जाएगी। इस पर सीएमओ डॉ. एनके गुप्ता का कहना है कि जन औषधि केंद्र का पहले दिन के कारण दिक्कतें हुई होंगी।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Subscribe to our News Channel