ताज़ा खबर :
prev next

पति समेत सास-ससुर को 7 वर्ष की कैद

अदालत ने विवाहिता को आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में पति, सास और ससुर को सात-सात साल की कैद की सजा सुनाई गई है। अभियुक्तों पर महिला को दहेज के लिए मिट्टी का तेल छिड़ककर जलाने का आरोप लगाया गया था। अदालत ने तीनों को सजा और 10-10 हजार रुपये का अर्थदंड भी सुनाया।

हापुड़ जिले के पिलखुवा थाना क्षेत्र में जुलाई 2013 में यह घटना हुई थी। मृतका मीनू के पिता रामगोपाल ने पिलखुवा थाने में दहेज हत्या का मुकदमा कराया था। अपर जिला जज-12 महेंद्र श्रीवास्तव की अदालत में इस मामले की सुनवाई चल रही थी। तीनों अभियुक्तों को सात-सात की सजा सुनाई गई। मृतका मीनू पिता राम गोपाल नारायणपुर हापुड़ के रहने वाले हैं। रामगोपाल ने बेटी मीनू की शादी पिलखुवा के गांव निडौरी में वर्ष 2004 में धर्मेंद्र से की थी।

आरोप है कि शादी के कई वर्ष बाद भी मीनू को कोई संतान पैदा नहीं हुआ था। ससुराल वाले इस वजह से मीनू को मारते-पीटते थे और परेशान करते थे। बाद में मीनू ने एक बेटे को जन्म दिया, लेकिन ससुराल में पति व परिवार के अन्य लोग उससे खुश नहीं रहते थे। आरोप है कि 11 जुलाई 2013 को ससुराल में पति, ससुर व अन्य सदस्यों ने विवाहिता मीनू पर मिट्टी तेल छिड़क कर आग लगा दी थी। गंभीर रूप से जल जाने के कारण मीनू की अस्पताल में मौत हो गई थी।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Subscribe to our News Channel