ताज़ा खबर :
prev next

बिजली के तार की चपेट में आने से कंपनी प्रबंधक की मौत

शिप्रा सनसिटी में गुरुवार सुबह खुले बिजली के तार की चपेट में आने से एक कंपनी प्रबंधक की मौत हो गई। युवक को बचाने आए कुछ लोगों को भी करंट लग गया। घटना के बाद गुस्साए लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया। लोगों ने आरोप लगाया कि रखरखाव के नाम पर आरडब्ल्यूए धनराशि लेती है, लेकिन सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

मूलरूप से बिहार के दरभंगा स्थित कमरौली गांव के रहने वाले सरोजकांत दास (32) अपनी पत्नी और पांच साल की बेटी सनाया के साथ इंदिरापुरम के शिप्रा सनसिटी में रहते थे। वह नोएडा स्थित एक गारमेंट कंपनी में प्रबंधक थे। उनके बहनोई मनोज दास ने बताया कि सनाया वसुंधरा के एक स्कूल में दूसरी कक्षा की छात्रा है। गुरुवार सुबह आठ बजे सरोजकांत अपनी बेटी को स्कूल बस तक छोड़कर वापस घर लौट रहे थे।

शिप्रा सनसिटी में पार्क के कोने पर खुले तार थे। बारिश के कारण आसपास करंट फैला हुआ था, जिससे वह करंट की चपेट में आ गए। उन्हें बचाने के लिए दौड़े लोगों को भी बिजली के झटके लग गए। सरोज बिजली की चपेट में आते ही नाली में गिर गए। लोगों की सूचना पर बिजली आपूर्ति बंद कराई गई। लोग सरोज को पास के अस्पताल ले गए, जहां पर डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। सरोज कांत की शादी सात साल पहले हुई थी।

सरोज की मौत के बाद आक्रोशित लोगों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। लोगों ने आरडब्ल्यूए दफ्तर और घटनास्थल पर हंगामा किया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शरोज कांत के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad