ताज़ा खबर :
prev next

हाथ तो आया पर मुंह न लगा, पाकिस्तान में इमरान खान जीत कर भी हैं सत्ता से दूर

पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर इमरान खान को पाकिस्तान में बुधवार को हुए चुनाव के बाद आधिकारिक तौर पर जीत भले ही हो गई है लेकिन सरकार बनाने के लिए उन्हें गठबंधन की जरूरत पड़ेगी। धीमी मतगणना के बाद पाकिस्तान के चुनाव अधिकारियों ने शुक्रवार को इस बात की घोषणा की कि इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी नेशनल एसेंबली की 269 सीटों में से 109 सीटों पर जीत दर्ज सबसे बड़ी पार्टी बन गई है।
उनके विरोधी शाहबाज शरीफ की पाकिस्तान मुस्लिम लीन (नवाज) को इस चुनाव में 63 सीटें मिली है। पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के जेल जाने के बाद पार्टी को संभालनेवाले शाहबाज ने इसमें व्यापक फर्जीवाड़ा और धांधली का आरोप लगाकर चुनाव नतीजे को खारिज कर दिया। इससे पहले, इमरान खान ने गुरुवार को अपनी जीत की घोषणा करते हुए फर्जीवाड़े के आरोपों से इनकार किया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के इतिहास में यह सबसे ज्यादा पारदर्शी चुनाव है।
पाकिस्तान का राहुल गांधी कहे जाने वाले बिलावल भुट्टो की पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी इन चुनावों में तीसरे स्थान पर रही, जिसे सिर्फ 39 सीटों पर जीत हासिल हुई है। बता दें कि अभी 20 और सीटों पर मतगणना का काम चल रहा है।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad