ताज़ा खबर :
prev next

अब लोन देने से पहले बैंक जीडीए से कराएंगे मानचित्र का सत्यापन

गाज़ियाबाद में अवैध निर्माण पर रोक लगाने के लिए जीडीए मसौदा तैयार कर रहा है। इसके तहत सभी बैंकों को पत्र भेज कर कहा जाएगा कि मकान, दुकान, बहुमंजिला इमारत के निर्माण के लिए लोन जारी करने से पहले उसके मानचित्र का सत्यापन जीडीए से करा लिया जाए। जीडीए को जानकारी मिली है कि कुछ लोग फर्जी मानचित्र लगाकर बैंकों से लोन स्वीकृत करा रहे हैं। उस मसौदे में बिजली विभाग से कहा जाएगा कि वह कनेक्शन देने से पहले भवन के वैध और अवैध होने का सत्यापन जीडीए से करा लें। अवैध को बिजली का कनेक्शन न देने की सिफारिश उसमें करने की तैयारी है।

आकाश नगर में बहुमंजिला इमारत गिरने के बाद से जीडीए ने अवैध निर्माण रुकवाने के लिए अभियान छेड़ रखा है। अब तक 274 इमारतें सील की जा चुकी हैं। एक को ध्वस्त किया गया है। इस दौरान मालूम हो रहा है कि बैंक से लोन लेकर अवैध निर्माण हो रहा है। यह भी सामने आया है कि लोन लेने के लिए लोग जीडीए की मुहर लगे फर्जी मानचित्र दिखाते हैं। जीडीए ऐसे साक्ष्य जुटाने की कोशिश कर रहा है। इतना सब सामने आने के बाद जीडीए का अभियंत्रण विभाग एक प्रस्ताव तैयार कर रहा है। उसे उपाध्यक्ष को सौंपा जाएगा।

अधिकारियों ने बताया कि इस प्रस्ताव के तहत बैंकों और बिजली विभाग को पत्र भेजा जाएगा। बैंकों से कहा जाएगा कि वह लोन जारी करने से पहले भवन के मानचित्र का सत्यापन जीडीए से कराएं। जिससे साफ हो जाए कि कहीं फर्जी मानचित्र लगाकर लोन लेने का प्रयास तो नहीं किया जा रहा। मानचित्र फर्जी हो तो उसके निर्माण के लिए लोन न दिया जाए। ऐसे ही विभाग से सत्यापन कराने को कहा जाएगा। अवैध होने पर भवन को बिजली का कनेक्शन न देने की सिफारिश की जाएगी। चीफ इंजीनियर विवेकानंद सिंह ने बताया कि इस कदम से अवैध निर्माण पर काफी हद तक अंकुश लगाया जा सकता है।