ताज़ा खबर :
prev next

एडमिशन ना होने पर बंद कर दिया कोर्स, 26 बच्चों का भविष्य खतरे में

गाज़ियाबाद स्थित आईडियल स्कूल ऑफ़ आर्किटेक्चर में आर्किटेक्चर कोर्स के बंद होने से 26 बच्चों की शिक्षा बीच में ही बाधित हो गई है। छात्रों का कहना है कि, इस वर्ष एडमिशन ना होने का हवाला देकर कॉलेज प्रशासन ने कोर्स को बंद कर दिया। इससे अंतिम वर्ष और चतुर्थ वर्ष के छात्रों की पढाई बीच में ही बंद हो गई है। फिलहाल अभी कालेज की तरफ से इन छात्रों के लिए कोई कार्रवाई नही की जा रही है। मंगलवार को छात्रों ने डीएम ऑफिस पहुंचकर डीएम को ज्ञापन सौंपा और उचित कार्रवाई की मांग की।

आईडियल स्कूल ऑफ़ आर्किटेक्चर कॉलेज करीब 8 वर्ष से चल रहा है। जो बी-टेक, पॉलिटेक्निक, आर्किटेक्चर आदि टेक्नीकल कोर्स चलता है। जहां आर्किटेक्चर के चतुर्थ वर्ष में 15 छात्र और अंतिम वर्ष में 11 छात्र पढ़ते है। इस कोर्स की फ़ीस लगभग 5 लाख है। छात्रों का कहना है कि बिना सूचना और किसी तरह के नोटिस के ही कॉलेज प्रशासन अपनी मनमानी करते हुए, आर्किटेक्चर कोर्स को बंद कर रहा है। जब इसका कारण पूछ गया तो प्रशासन ने एडमिशन ना होने का हवाला दे दिया। हांलाकि स्कूल की तरफ से छात्रों को यह आश्वासन दिया गया है कि, अंतिम वर्ष और चतुर्थ वर्ष के छात्रों का ट्रांसफर किसी अन्य कॉलेज में कराया जाएगा लेकिन इस पर भी कॉलेज लापरवाही बरत रहा है। इससे छात्रों को डर है कि कहीं कॉलेज की गलती से इनका भविष्य खतरे में ना पड़ जाए।

छात्रों ने बताया कि, सबसे बड़ी गलती मनेजमेंट की है, जिसमे विक्रांत चौहान, अतुल जैन व सुभाष के कार्रवाई से ही यह कोर्स बंद किया जा रहा है। छात्रों का आरोप है कि अभी तक इनकों किसी भी वर्ष की मार्कशीट नही दी गई है। जिस बिल्डिंग में छात्रों की पढ़ाई होती थी, उसको भी  प्रशासन ने बेच दिया है। छात्रों का कहना है कि लगभग एक वर्ष से पढ़ाई बंद है।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad