ताज़ा खबर :
prev next

जस्टिस लोया मामले की नहीं होगी जांच, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की पुनर्विचार याचिका

सीबीआई कोर्ट के तत्कालीन जज जस्टिस बीएच लोया की मौत के मामले में सर्वोच्च न्यायालय ने बॉम्बे लायर्स असोशिएशन द्वारा पुनर्विचार याचिका को खारिज कर दिया है। इस याचिका में असोशिएशन ने मांग की थी कि सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अप्रैल में दिए गए फैसले को बदलने की आवश्यकता है। अप्रैल में सुप्रीम कोर्ट ने जज लोया की मौत की एसआईटी से जांच की मांग वाली याचिकाओं को खारिज करते हुए कहा था जज की मौत प्राकृतिक थी।
इस साल अप्रैल में चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और एएम खानविलकर की सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने जज लोया की मौत की स्पेशल इन्वैस्टिगेशन टीम (एसआईटी) से जांच की मांग वाली याचिकाओं का खारिज किया था। कोर्ट ने कहा था कि ये याचिकाएं राजनीतिक हित साधने और चर्चा बटोरने के लिए जारी की गई लगती हैं, लेकिन इनका कोई ठोस आधार नहीं है। इतना ही नहीं, शीर्ष अदालत ने याचिकाओं को लेकर कड़ी टिप्पणी करते हुए कहा कि यह याचिकाएं न्यायपालिका की छवि को खराब करने का एक प्रयास हैं।
आपको बता दें कि 1 दिसंबर 2014 को नागपुर में जज लोया की मौत हो गई थी, जब वह अपने एक सहकर्मी की बेटी की शादी में शरीक होने के लिए जा रहे थे। कहा जाता है कि जज लोया को कार्डिएक अरेस्ट हुआ था, लेकिन नवंबर 2017 में जज लोया की मौत को उनकी बहन ने संदिग्ध बताया था। इसके बाद यह मामला उठा और उसके तार सोहराबुद्दीन शेख एनकाउंटर से जोड़ते हुए उनकी मौत की स्वतंत्र जांच की मांग करते हुए कई याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई थीं। 19 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट ने जज लोया की मौत से जुड़ी सभी याचिकाओं को खारिज कर दिया।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad