ताज़ा खबर :
prev next

9वीं की छात्रा ने लगाई फांसी, घटना स्थल से नहीं मिला कोई सुसाइड नोट

गाज़ियाबाद के खोड़ा की एक कालोनी में बीते दिन स्कूल से घर पहुंचते ही नौवीं कक्षा की छात्रा ने खुदकुशी कर ली। छानबीन में घटनास्थल  से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है, जिसकी वजह से आत्महत्या की वजह का पता नहीं लग सका है। पुलिस घटना की जांच में जुटी हुई है।

मूलरूप से उत्तराखंड की रहने वाली 14 वर्षीय छात्रा अपने माता-पिता के साथ खोड़ा की कालोनी में रहती थी। छात्रा के माता-पिता नोएडा की कंपनी में नौकरी करते हैं। छात्रा दिल्ली के एक स्कूल में नौवीं कक्षा में पढ़ती थी। बुधवार को छात्रा दोपहर दो बजे स्कूल से घर पहुंची। छात्रा ने अंदर से दरवाजा बंद किया और पंखे के सहारे चुन्नी से फांसी लगा ली। पड़ोस में रहने वाली किशोरी ने छात्रा को फांसी पर लटका देख शोर मचाया। इस पर आसपास के लोग इकट्ठा हो गए। लोगों ने आनन-फानन में छात्रा को फांसी से नीचे उतारा और दिल्ली के लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल में ले गए, जहां छात्रा को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। स्कूल से पहुंचते ही छात्रा ने फांसी लगा ली। ऐसे में अंदेशा जताया जा रहा है कि छात्रा स्कूल से आहत होकर घर पहुंची थी। हालांकि पुलिस मामले की जांच कर रही है।