ताज़ा खबर :
prev next

किसानों ने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे का काम रोका

मुआवजे की मांग को लेकर किसानों ने मंगलवार 4 दिसम्बर को दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे का निर्माण कार्य रोक दिया इसके बाद वहां काम कर रहे मजदूरों को भगा दिया। किसानों का कहना है कि मांगें नहीं माने जाने तक एक्सप्रेस वे पर काम नहीं शुरू होने देंगे। मुआवजा समेत कई मांगों को लेकर किसान एक साल से आंदोलन कर रहे हैं। किसानों ने बताया कि कलछीना, अमराला, पट्टी, पलौता, भोजपुर चुड़िय़ाला, सैदपुर, फजलगढ़, तलहटा समेत कई दो दर्जन से अधिक गांवों की जमीन का अधिग्रहण कर लिया गया है मगर अभी तक इन गांवों के करीब 200 किसानों को मुआवजा नहीं दिया है।

भोजपुर थाना प्रभारी ज्ञानेश्वर बौद्व ने मौके पर जाकर किसानों को समझाने का प्रयास किया। जब थाना प्रभारी ने निर्माण कार्य शुरू कराने की बात कही तो किसान भड़क गए। किसानों ने हंगामा शुरू कर दिया। किसानों का आरोप है कि एनएचएआई के अधिकारियों ने जबरन ट्यूवबेल,चकरोड पर जबरन कब्जा करके निर्माण कार्य कर दिया। इसके अलावा सैकड़ों पेड़ भी नष्ट कर दिए गए हैं। एनएचएआई व प्रशासन काफी समय से किसानों को इनका मुआवजा दिलाने का आश्वासन दे रहा है, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

बता दें, किसानों के आंदोलन के चलते दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे का निर्माण कार्य समय पर पूरा नहीं हो पाएगा। अभी तक चौथे चरण में लगभग 30 प्रतिशत ही निर्माण कार्य हो सका है। इससे पहले प्रदूषण के चलते एनजीटी द्वारा एक्सप्रेस-वे का काम रोका गया, अब किसानों ने काम रोक दिया है। ऐसे में काम तब पूरा होगा। मार्च 2019 तक एक्सप्रेस वे निर्माण कार्य पूरा करने की समय सीमा रखी गई है।

 

व्हाट्सएप के माध्यम से हमारी खबरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *