ताज़ा खबर :
prev next

गाज़ियाबाद में 134 टीमें घर-घर जाकर खोजेंगी टीबी के मरीज

गाज़ियाबाद में सक्रिय टीबी खोज अभियान का तीसरा चरण सोमवर (आज) से शुरू हो जाएगा। दस दिन चलने वाले अभियान में जिले के तीन लाख 53 हजार 800 लोगों की जांच का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसके लिए पूरी तैयारी कर ली है। गठित की गई टीमें आज घर-घर जाकर टीबी के रोगियों को तलाशने का कार्य करेंगी।

जानकारी के मुताबिक, अभियान में नौ सेक्टर नोडल अफसर, 134 टीमें डोर-टू-डोर सर्वे करेंगी। 26 सुपरवाइजर्स एक्टिव केस फाइडिंग में लगाई गई हैं। 16 क्षेत्रों में तीन लाख 53 हजार 800 लोगों की जांच एसीएफ के दौरान की जाएगी। टीबी का केस मिलने पर मरीजों का इलाज मौके से ही शुरू कर दिया जाएगा। बता दें, इससे पहले दूसरे चरण को 15 सितंबर को पूरा कर लिया गया था। दूसरे चरण की एसीएफ में जिले में 244 टीबी के मरीज मिले थे।

जिला टीबी अधिकारी जेपी श्रीवास्तव के मुताबिक, सरकारी अस्पतालों की ओपीडी में प्रतिदिन 200 से 300 मरीज सांस लेने में परेशानी और लगातार खांसी रहने की शिकायत लेकर आते हैं। टीबी कई प्रकार का होता है, लेकिन फेफड़ों में संक्रमण के कारण इसकी आशंका सबसे ज्यादा रहती है।

जानकारी के मुताबिक, पिछले चार महीनों में विभाग की ओर से चलाए गए अभियान के तहत 300 से ज्यादा टीबी के नए मरीजों को खोजा गया है। उनका उपचार शुरू कर दिया गया है। 2025 तक टीबी खत्म करने का लक्ष्यडब्ल्यूएचओ ने टीबी को पूरी तरह से खत्म करने के लिए 2030 तक लक्ष्य तय किया है। जबकि केंद्र सरकार ने देश से टीबी के खात्मे के लिए 2025 निर्धारित किया है। इसके लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने क्षय रोग (2017-2025) के लिए राष्ट्रीय रणनीतिक योजना (एनएसपी) बनाई है। इसके तहत सभी टीबी मरीजों की यथाशीघ्र जांच, उपयुक्त मरीज सहायता प्रणाली के साथ गुणवत्ता वाली दवाओं और उपचार व्यवस्था मुहैया कराई जा रही है।

व्हाट्सएप के माध्यम से हमारी खबरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *