ताज़ा खबर :
prev next

सपा-बसपा का यूपी में हुआ गठबंधन, कांग्रेस के लिए छोड़ी 2 सीटें

उत्तर प्रदेश के दो बड़े राजनैतिक दलों, समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाजवादी पार्टी (बसपा) ने आज आगामी लोकसभा चुनावों के लिए अपने गठबंधन का ऐलान कर दिया। यह दोनों दल लगभग 25 साल बाद एकसाथ चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं। गठबंधन का ऐलान राजधानी लखनऊ में आयोजित एक प्रेस वार्ता में किया गया। एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा प्रमुख मायावती द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित इस प्रेस वार्ता में कांग्रेस के लिए 2 सीटें (रायबरेली और अमेठी छोड़ने की भी बात कही गई। जबकि दो सीटें अन्य दलों के लिए छोड़ दी गई हैं। मायावती ने कहा कि जिस तरह 1993 में हमने साथ मिलकर बीजेपी को हराया था, वैसे ही इस बार उसे हराएंगे।

प्रेस वार्ता के दौरान बीएसपी सुप्रीमो ने कम से कम 2 बार काफी जोर देकर, 1995 के गेस्ट हाउस कांड का जिक्र किया और कहा कि उनकी पार्टी ने जनहित के लिए उसे भूलकर एसपी के साथ गठबंधन का फैसला किया है। मायावती ने कहा, ‘लोहिया जी के रास्ते पर चल रही समाजवादी पार्टी के साथ 1993 में मान्यवर कांशीराम और मुलायम सिंह यादव द्वारा गठबंधन करके चुनाव लड़ा गया था। हवा का रुख बदलते हुए बीजेपी जैसी घोर सांप्रदायिक और जातिवादी पार्टी को हराकर सरकार बनी थी। लखनऊ गेस्ट हाउस कांड से ऊपर जनहित को रखते हुए एक बार फिर देश में उसी तरह के दूषित और साम्प्रदायिक राजनीति को हराने के लिए हाथ मिलाया है।’

राजधानी लखनऊ के होटल ताज में प्रेस कॉन्फ्रेंस की शुरुआत में बीएसपी सुप्रीमो ने कहा कि यह प्रेस कॉन्फ्रेंस पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह यानी गुरु-चेले की नींद उड़ाने वाली है। उन्होंने कहा कि 1990 के आस-पास बीजेपी के जहरीले माहौल की वजह से आम जनजीवन प्रभावित था और जनता त्रस्त थी। आज भी वैसा ही माहौल है और हम एक बार फिर उन्हें हराएंगे।

व्हाट्सएप के माध्यम से हमारी खबरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *