ताज़ा खबर :
prev next

थायरॉइड ओवर एक्टिव है या अंडर एक्टिव, जानिए इन साधारण लक्षणों से

थायरॉइड रोग पिछले कुछ समय में बहुत तेजी से बढ़ा है। भारत में महिलाएं थायरॉइड रोग का सबसे ज्यादा शिकार हो रही हैं। आमतौर पर थायरॉइड रोग दो कारणों से होता है- जब आपकी थायरॉइड ग्रंथि ज्यादा मात्रा में हार्मोन्स बनाने लगती है (ओवरएक्टिव थायरॉइड) और जब आपकी थायरॉइड ग्रंथि जरूरत से भी कम हार्मोन्स बनाती है (अंडरएक्टिव थायरॉइड)। ये दोनों ही समस्याएं बहुत खतरनाक हैं। कुछ खास लक्षणों को पहचानकर आप ये पता लगा सकते हैं कि आपकी थायरॉइड ग्रंथि ओवरएक्टिव है या अंडर एक्टिव।

ओवरएक्टिव थायरॉइड (हाइपरथायरॉइडिज्म) के लक्षण

जल्दी थक जाना
ओवरएक्टिव थायराइड होने पर व्‍यक्ति ज्‍यादा एनर्जे‍टिक अनुभव करता है। मगर थोड़ा काम करते ही उसे बहुत जल्‍दी थकान भी होने लगती है। ज्यादातर समय व्‍यक्ति का शरीर सुस्त रहता और आलस के कारण नींद भी बहुत आती है।

वजन कम होने लगना
ओवरएक्टिव थाइराइड होने पर कब्ज की समस्या शुरू हो जाती है, खाना निगलने में दिक्कत होती है और खाना अच्छे से पच नहीं पाता। इस कारण से व्‍यक्ति के शरीर का वजन तेजी से कम होता जाता है।

हाथ-पांव ठंडे होना
ओवरएक्टिव थाइराइड होने पर आदमी के हाथ पैर हमेशा ठंडे रहते है। आदमी का सामान्‍य तापमान 98 डिग्री सेल्सियस होता है फिर भी शरीर और हाथ-पैर ठंडे रहते हैं। यह भी ओवरएक्टिव थायराइड का लक्षण है।

त्वचा का रूखापन
ओवरएक्टिव थाइराइड से ग्रस्त व्यक्ति की त्वचा सूखने लगती है। त्वचा में रूखापन आ जाता है। त्वचा के ऊपरी हिस्से के सेल्स की क्षति होने लगती है जिसकी वजह से त्वचा रूखी-रूखी हो जाती है।

कमजोर इम्यूनिटी
हाइपरथायराइडिज्‍म में व्‍यकित की प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है। इसके कारण शरीर में कई प्रकार की बीमारियां होने लगती हैं और शरीर सामान्‍य और खतरनाक बीमारियों को होने से खुद को बचा नहीं पाता है।

अंडरएक्टिव थायरॉइड (हाइपोथायरॉइडिज्म) के लक्षण

थकान और आलस

थायरॉइड ओवरएक्टिव हो या अंडरएक्टिव, थकान और आलस की समस्या दोनों में ही होती है। जब आपका थायरॉइड जरूरत से कम हार्मोन्स बनाता है, तो शरीर में ऊर्जा की कमी के कारण आपको हर समय आलस आता है और बहुत नींद आती है।

ठंड झेलने की क्षमता में कमी

अंडरएक्टिव थायरॉइड होने पर आपकी ठंड झेलने की क्षमता में कमी आती है। इसलिए ऐसे लोगों को आमतौर पर सामान्य मौसम में भी ठंड लगती है और सर्दियों में तो बहुत ज्यादा परेशानी होती है। अगर आपको पर्याप्त कपड़े पहनने के बाद भी ठंड लगती है, तो ये थायरॉइड की समस्या का संकेत हो सकता है।

नाखूनों और बालों का टूटना

अंडरएक्टिव थायरॉइड के कारण बाल झड़ने और टूटने की समस्या बहुत अधिक बढ़ जाती है। बाल इतने कमजोर हो जाते हैं कि कंघी करते हुए टूटते रहते हैं। नाखून पतले और रूखे होने शुरू हो जाते हैं। इससे नाखूनों में दरार आ जाती है और वो जल्दी टूटने लगते हैं। इसके अलावा, नाखूनों में सफेद लाइन भी नजर आने लगती हैं।

वजन बढ़ना और प्यास अधिक लगाना

थायराइड के कारण मेटाबॉलिज्म की दर धीमी पड़ जाती है। इसका मतलब यह कि आप जो खाना खाते हैं, उसका आपकी एनर्जी की आवश्यकताओं के लिए उचित तरीके से इस्तेमाल नहीं हो पा रहा है। परिणामस्वरूप, आपकी बॉडी में फैट का अस्पष्ट जमाव होता है और वजन बढ़ना शुरू हो जाता है। इसलिए अंडरएक्टिव थायरॉइड में लोगों का मोटापा बढ़ने लगता है। साथ ही इस समस्या में लोगों को प्यास ज्यादा लगने लगती है।

महिलाओं के पीरियड्स में बदलाव

महिलाओं में पीरियड्स में अनियमितताएं शुरू हो जाती है। यह पहले की तुलना में लाइटर या हेवियर रूप में हो सकता है। इसके अलावा, कई महिलाओं में दो पीरियड्स के इंटरवल में भी अनियमितता शुरू हो जाती है जैसे 28 दिन का साइकिल 40 दिन का बन सकता है। इस रोग से डिप्रेशन की समस्या भी उत्पन्न हो जाती है।

व्हाट्सएप के माध्यम से हमारी खबरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *