ताज़ा खबर :
prev next

ढाई साल के मासूम ने शहीद पिता को दी मुखाग्नि, पाकिस्तान मुर्दाबाद के लगते रहे नारे

पुलवामा में आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हुए अजय कुमार का पार्थिव शरीर सेना के जवान मंगलवार सुबह उनके पैतृक गांव लेकर पहुंचे। पत्नी व अन्य परिजनों के अंतिम दर्शन करने के बाद अजय कुमार को सैनिक सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई। मुखाग्नि उनके ढाई साल के बेटे आरव ने दी।

मंगलवार सुबह दस बजे के आसपास सेना के जवान शहीद अजय कुमार के पार्थिव शरीर को बागपत-मेरठ हाईवे के रास्ते लेकर आए। वहां से गंगनहर पटरी मार्ग से निवाड़ी, पतला होते हुए अजय कुमार के पार्थिव शरीर को उनके पैतृक गांव स्थित घर ले जाया गया। निवाड़ी में हजारों लोगों की भीड़ उनका घंटों से इंतजार कर रही थी। भारत मां के जयकारों और अजय कुमार अमर रहे के नारे लगते रहे। उनकी पत्नी डिम्पल, माता-पिता के अलावा अन्य परिजनों को अंतिम दर्शन कराने के बाद अजय कुमार का पार्थिव शरीर को दोबारा पतला स्थित आईटीआई के मैदान में लाया गया। वहां सेना के जवानों ने सलामी दी। पूरे सैनिक सम्मान के साथ अंतिम संस्कार की आखिरी प्रक्रिया पूरी कराई गई। इसके बाद ढाई साल के बेटे आरव से पिता को मुखाग्नि देने की रस्म पूरी कराई गई।

उनकी अंतिम यात्रा में केंद्रीय राज्यमंत्री एवं स्थानीय सांसद डॉ. सत्यपाल सिंह, रालोद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व सांसद जयंत चौधरी, मेरठ सांसद राजेंद्र अग्रवाल, सरधना विधायक संगीत सोम, किठौर विधायक सतबीर त्यागी, मोदीनगर विधायक डा. मंजू शिवाच, वरिष्ठ भाजपाई डा. देवेंद्र शिवाच, संजीव, तेजबीर डबाना, गाज़ियाबाद के पूर्व मेयर अशु वर्मा, सुरेंद्र त्यागी, पप्पन शर्मा सीकरी, सभासद आशीष त्यागी, एडवोकेट ललित, युवा रालोद के जिलाध्यक्ष कपिल चौधरी, गन्ना विकास परिषद के चेयरमैन अमरजीत सिंह बिड्डी आदि अनेक गणमान्य लोग शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *