ताज़ा खबर :
prev next

क्या आप भी नहीं करते ब्रेकफास्ट तो हो जाएं सावधान…

मोटापा कम करने के लालच में सुबह का नाश्ता (ब्रेकफास्ट) न करने से न सिर्फ आपको टाइप 2 डायबीटीज होने का खतरा तीन गुना बढ़ जाता है बल्कि जो लोग पहले से ही मोटापे का शिकार हैं उनमें तो इसका खतरा और भी ज्यादा होता है। एक अध्ययन में इस बात की जानकारी मिली है।

जो लोग सुबह ब्रेकफास्टनहीं करते उनमें टाइप 2 डायबीटीज होने का खतरा 33 प्रतिशत अधिक होता है। साथ ही जो लोग सप्ताह में 4 दिन ब्रेकफास्ट नहीं करते उनमें तो डायबीटीज होने का खतरा 55 प्रतिशत अधिक होता है। अध्ययन में करीब 1 लाख लोगों के डेटा की जांच करने के बाद यह नतीजे सामने आए।

एक्सपर्ट्स बताते हैं कि, सुबह का ब्रेकफास्ट न करने से शरीर में इन्सुलिन का रेसिस्टेंस बढ़ जाता है जिससे मेटाबॉलिक सिस्टम पर दबाव बढ़ने लगता है और इससे डायबीटीज की मात्र शाहिर में बढ़ने लगती है। वैसे लोग जो वजन कम करने के लिए ब्रेकफास्ट नहीं करते वे पूरी तरह से गलत होते हैं क्योंकि सुबह का नाश्ता न करने की वजह से वे दिन में ज्यादा स्नैकिंग कर लेते हैं जिस वजह से वजन कम होने की बजाए बढ़ने लगता है।

एक्सपर्ट्स के मुताबिक, किसी भी मील को चाहे वह ब्रेकफास्ट हो, लंच या फिर डिनर लगातर कई दिनों तक रोकने पर इससे बॉडी सिस्टम पर दबाव बढ़ता है और हॉर्मोन इंसुलिन कम ऐक्टिव होने लगता है।  इसलिए सुबह का ब्रेकफास्ट बेहद बैलेंस्ड होना चाहिए। इसमें हेल्दी प्रोटीन अधिक, कार्बोहाइड्रेट कम और मक्खन जैसे सैच्युरेटेड फैट बेहद कम होने चाहिए। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, जो व्यक्ति ब्रेकफास्ट नहीं करता है वह स्ट्रेस में आ जाता है और दूसरे अनहेल्दी बिहेवियर अपना लेता है।
डेटा के अनुसार, वर्ल्ड में 30 प्रतिशत लोग ऐसे हैं जो ब्रेकफास्ट नहीं करते। खासतौर पर युवा वर्ग के लोग। काम से जुड़े स्ट्रेस और समय की वजह ज्यादातर लोग या तो ब्रेकफास्ट नहीं करते या फिर बहुत थोड़ा सा खाते हैं। तो डिसाइड आपको करना है, यदि सेहद अच्छा रखना है तो प्रतिदिन हेल्दी और होलसम ब्रेकफास्ट करना बेहद जरूरी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *