ताज़ा खबर :
prev next

नकारात्मक शक्तियों से बचने के लिए होलिका दहन में भस्म करें अपने अंदर की बुराइयां

होली का त्योहार जीवन में खुशियां और उमंग लेकर आता है, इस बार होली 20 और 21 मार्च को है। जहां 20 मार्च को होलिका दहन किया जाएगा वहीं 21 मार्च को रंगों की होली खेली जाएगी। होलिका दहन वाले दिन होली की पूजा की जाती है और जब होलिका दहन होता है तो वहां से लोग जलती हुई भस्म लेकर आते हैं और इसे पूरे घर में घुमाते हैं।

विशेषज्ञों के मुताबिक, ऐसा इसलिए किया जाता है जिससे नकारात्मक शक्तियां घर से दूर रहें, वहीं जब ये भस्म ठंडी हो जाती है तब इसे मस्तक पर लगाया जाता है। शास्त्रों के अनुसार भस्म को मस्तक पर लगाने से व्यक्ति की बुद्धि बढ़ती है। भस्म में शरीर के दूषित द्वव्य सोखने की क्षमता होती है और इसे लगाने से कई प्रकार के चर्म रोग दूर होते हैं।

वहीं, कुछ लोग होली की भस्म को तांबे या चांदी के ताबीज में भरकर काले धागे में इसे बांधकर गले में पहनते हैं। ये माना जाता है कि व्यक्ति को इससे नकारात्मक शक्तियों से छुटकारा मिलता है, वहीं अगर बच्चों के गले में ये ताबीज पहनाया जाए तो इससे बच्चों को नजर नहीं लगती है। इसी के साथ तांत्रिक क्रियाओं का प्रभाव भी व्यक्ति पर नहीं पड़ता है।

 

व्हाट्सएप के माध्यम से हमारी खबरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *