ताज़ा खबर :
prev next

अब मेट्रो फेस-3 में पाँच की जगह छह स्टेशन होंगे, इंटरचेंज स्टेशन होगा वसुंधरा में

नोएडा सेक्टर-62 से लेकर मोहननगर और वैशाली से लेकर वसुंधरा सेक्टर-2 तक मेट्रो लाइन की संशोधित डीपीआर जीडीए ने शासन को सौंप दी। अब प्रदेश सरकार की तरफ से संशोधित डीपीआर को अनुमति देनी है। इसके बाद इस पर आगे की कार्रवाई शुरू होगी।

संशोधित डीपीआर के तहत नोएडा सेक्टर-62 से मोहननगर के बीच अब 6 स्टेशन होंगे जबकि पहले केवल 5 स्टेशन प्रस्तावित थे। अब वसुंधरा सेक्टर-2 में नया स्टेशन प्रस्तावित है। वसुंधरा सेक्टर-2 दोनों कॉरिडोर से आने वाली मेट्रो का इंटरचेंज स्टेशन होगा। यहां से नोएडा जाने के लिए मेट्रो को बदला जा सकेगा। जीडीए वीसी कंचन वर्मा का कहना है कि डीएमआरसी ने इस प्रॉजेक्ट की संशोधित डीपीआर सौंप दी है। पहले नोएडा सेक्टर-62 से मोहननगर मेट्रो कॉरिडोर पर काम शुरू कराया जाएगा। इसके बाद वैशाली से वसुंधरा सेक्टर-2 वाले रूट पर काम शुरू होगा।

दोनों कॉरिडोर के सभी स्टेशन एलिवेटेड होंगे। नोएडा सेक्टर-62 से मोहननगर कॉरिडोर में नोएडा इलेक्ट्रानिक सिटी, वैभवखंड, डीपीएस इंदिरापुरम, शक्तिखंड, वसुंधरा सेक्टर-5 और वसुंधरा सेक्टर-2 स्टेशन शामिल हैं। वैशाली वाले कॉरिडोर में प्रहलादगढ़ी, वसुंधरा सेक्टर-14 और साहिबाबाद स्टेशन होगा। डीपीआर में इस प्रॉजेक्ट की 80 फीसदी फंडिंग प्रदेश सरकार को करनी होगी जबकि 20 फीसदी फंडिंग केंद्र सरकार करेगी।

प्रमुख सचिव आवास नितिन रमेश गोकर्ण की अध्यक्षता में सोमवार को जीडीए, डीएमआरसी और अन्य विभागों के अधिकारियों की मेट्रो फेस-3 के फंडिंग पैटर्न पर चर्चा हुई। लेकिन अभी फाइनल निर्णय नहीं हो सका। जल्द ही इसके संबंध में मुख्य सचिव की अध्यक्षता में बैठक करके फैसला लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *