ताज़ा खबर :
prev next

अली और बजरंगबली दोनों की मदद से जीतेगी गठबंधन : मायावती

उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी, समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल के गठबंधन ने शनिवार को अपनी दूसरी संयुक्त रैली बदायूं में की। इस दौरान बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर तीखा वार किया है। उन्होंने सीएम को उनके ‘अली-बजरंगबली’ वाले बयान पर जमकर घेरा और कहा कि गठबंधन के साथ अली और बजरंगबली दोनों हैं और दोनों की मदद से गठबंधन को जीत हासिल होगी।

माया ने कहा कि भीड़ को देखकर लग रहा है कि नमो-नमो वाले जा रहे हैं, जय भीम वाले आ रहे हैं। उन्होंने सीएम पर हमला बोलते हुए कहा, ‘यूपी के मुख्यमंत्री योगी को इस बात का जवाब जरूर देना चाहूंगी, जो इन्होंने गठबंधन के बारे में इशारा करते हुए कहा है कि इनके अली, हमारे बजरंगबली, मैं इनको कहना चाहती हूं कि हमारे अली भी हैं, बजरंगबली भी हैं। दोनों में से कोई गैर नहीं हैं, दोनों हमारे अपने।’

उन्होंने योगी आदित्यनाथ के उस बयान पर भी तंज कसा था जिसमें उन्होंने बजरंगबली को दलित बताया था। उन्होंने कहा, ‘हमें बजरंगबली की ज्यादा जरूरत इसलए भी है क्योंकि बजरंगबली अपनी ही जाति के हैं, दलित हैं। योगी ने ही उनकी जाति की खोज की है कि बजरंगबली वनवासी दलित जाति के हैं। मैं योगी की आभारी हूं कि हमारे वंशज के बारे में खास जानकारी दी है। हमारे लिए खुशी की बात यह है कि हमारे साथ अली भी हैं और बजरंगबली भी हैं।’ उन्होंने कहा कि योगी की पार्टी को न अली का वोट पड़ेगा, न बजरंगबली का।

बता दें कि योगी आदित्‍यनाथ ने कहा था, ‘अगर कांग्रेस, एसपी, बीएसपी को अली पर विश्वास है तो हमें भी बजरंग बली पर विश्वास है।’ सीएम योगी ने देवबंद में बीएसपी सुप्रीमो के उस भाषण की तरफ इशारा करते हुए यह टिप्पणी की थी जिसमें मायावती ने मुस्लिमों से एसपी-बीएसपी गठबंधन को वोट देने की अपील की थी। योगी के इस बयान के बाद चुनाव आयोग ने उन्‍हें नोटिस भेजा था और शुक्रवार शाम तक जवाब देने को कहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *