ताज़ा खबर :
prev next

जया प्रदा के खिलाफ विवादित बयान देकर बुरे फंसे आजम खान, एफआईआर दर्ज

अक्सर विवादित बयानों की वजह से चर्चा में रहने वाले समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान रामपुर से बीजेपी प्रत्याशी जया प्रदा के खिलाफ मर्यादा लांघने के बाद चौतरफा घिर गए हैं। अखिलेश यादव की मौजूदगी में आजम ने जया प्रदा का नाम लिए बिना जो कहा उसको लेकर पार्टी में हडकंप मचा हुआ है। आजम के खिलाफ रामपुर के शाहबाद थाने में एफआईआर दर्ज की गई है तो महिला आयोग ने भी नोटिस भेजने का ऐलान किया है।

साथ ही आजम के खिलाफ विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्विटर पर लिखा है कि, ‘मुलायम भाई- आप पितामह हैं समाजवादी पार्टी के, आपके सामने रामपुर में द्रौपदी का चीरहरण हो रहा है। आप भीष्म की तरह मौन साधने की गलती मत करिए।’ सुषमा ने ट्वीट में अखिलेश यादव, जया भादुरी और डिंपल यादव को भी टैग किया है।

आजम के बयान को ‘बेहद अमर्यादित’ करार देते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा कि आयोग उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी करेगा। उन्होंने चुनाव आयोग से गुजारिश की है कि वह आजम खान के चुनाव लड़ने से प्रतिबंधित करे।

गौरतलब हो कि जया प्रदा का नाम लिए बगैर आजम ने जनसभा में मौजूद लोगों से पूछा, ‘क्या राजनीति इतनी गिर जाएगी कि 10 साल जिसने रामपुर वालों का खून पिया, जिसे उंगली पकड़कर हम रामपुर में लेकर आए, उसने हमारे ऊपर क्या-क्या इल्जाम नहीं लगाए। क्या आप उसे वोट देंगे?’ आजम ने आगे कहा कि आपने 10 साल जिनसे अपना प्रतिनिधित्व कराया, उसकी असलियत समझने में आपको 17 साल लगे, मैं 17 दिन में पहचान गया कि इनके नीचे का अंडरवेअर खाकी रंग का है।

उधर, इस विवादित बयान को लेकर आजम खान ने कहा कि उनकी बात को गलत तरीके से पेश किया गया। आजम ने कहा कि उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया और अगर वह दोषी साबित होते हैं तो चुनाव से हाथ पीछे कर लेंगे। बयान पर घिरे आजम ने कहा, ‘मैं रामपुर से नौ बार विधायक और एक बार मंत्री रहा हूं। मुझे पता है क्या कहना है। अगर कोई यह साबित कर दे कि मैंने किसी नाम लिया और किसी का नाम लेकर अपमान किया। अगर यह साबित होता है, तो मैं चुनाव से हाथ पीछे कर लूंगा।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *