ताज़ा खबर :
prev next

करवट ले रहे मौसम से किसान चिंतित, मौसम विभाग ने जारी की एडवाइजरी

मौसम विभाग ने 19 अप्रैल तक मौसम खराब रहने की आशंका जताई रहेगा। इसको देखते हुए किसानों के लिए कृषि विभाग ने एडवाइजरी जारी की है। कृषि विभाग ने तेज हवाएं, आंधी गरज चमक के साथ वर्षा और ओलावृष्टि की संभावना जताई है। इसको देखते हुए किसानों का नुकसान न हो इसके लिए सलाह दी गई है।

बता दें, बीते दिन मौसम में अचानक हुए बदलाव से कई राज्यों में फसलों को काफी नुकसान हुआ है। इसी के मद्देनजर जिले के कृषि विभाग ने किसानों के लिए एडवाइजरी जारी की है, जिसमें खराब मौसम के चलते किसानों को फसल बचाव के लिए सतर्क रहने को कहा गया है। गेहूं की तैयार फसल मौसम की स्थिति को देखते हुए कम्बाइन से कटाई कराए, जिसके साथ हार्वेस्टर के साथ भूसा बनाने वाली मशीन जुड़ी हो। ताकि पशुओं के लिए भूसे की उपलब्धता सुनिश्चित हो। इस मौसम में गेहूं की फसल को न काटने की सलाह दी गई है, ताकि कटने के बाद बारिश में भीगने पर फसल नष्ट होने का ज्यादा खतरा है। अधिक बारिश होने की स्थिति में खेत में दलहन, मक्का व अन्य सब्जियों के खेत में जलभराव होने पर इसकी निकासी करें। 24 घंटे से अधिक देर तक पानी भरा होने की स्थिति में फसल खराब हो जाएगी।

मौजूदा समय में रबी फसलों की कटाई चल रही है। इसलिए तेज आंधी, बारिश और ओलावृष्टि से फसलों को नुकसान होने की स्थिति में बीमित किसान केंद्र व राज्य सरकार की ओर से संचालित प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ ले सकते हैं। इसके लिए किसान संबंधित जनपद की बीमा कंपनी को उसके टोल फ्री नंबर 18002093536 पर 72 घंटे के भीतर सूचना दें, जिसके नुकसान का निरीक्षण कर आंकलन कर क्षतिपूर्ति प्रदान की जाएगी। वहीं, फसल कटाई के चार दिन के भीतर नुकसान की सूचना बीमा कंपनी या जिले के कृषि निदेशक व जिलाधिकारी को दे।

जिला कृषि अधिकारी डा. राकेश कुमार मौर्य ने बताया कि कटाई के बाद अगर फसल अवशेष खेत में जलाते हुए मिले तो दंडनीय कार्रवाई की जाएगी। खेत में छूटे फसलों के अवशेष की गहरी जुताई कराने से यह सड़क पर कार्बनिक तत्वों में वृद्धि करेंगे, जिससे अगली फसलों को लाभ मिलेगा। गेहूं की फसल तैयार है, लेकिन किसान मौसम खराब होने के पूर्वानुमान के चलते इसकी कटाई न करें। अगर किसी ने कटाई की है तो फसल को जमा करके इस पर तिरपाल आदि से सुरक्षित कर लें। जायद की फसलों मक्का, ज्वार व सब्जियों में पानी न दें। तेज हवा के चलते गिरकर खराब होने का खतरा है।

 

व्हाट्सएप के माध्यम से हमारी खबरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *