ताज़ा खबर :
prev next

अब चौबीस घंटे होगी विद्युत आपूर्ति की मॉनिटरिंग

पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम (पीवीवीएनएल) के गाज़ियाबाद, मेरठ व नोएडा शहर में 24 घंटे विद्युत आपूर्ति को लेकर शासन ने विद्युत सप्लाई मॉनिटरिग शुरू कर दी है। निर्बाध आपूर्ति के आदेशों के बावजूद यहां अगर ट्रिपिग होती है तो इसके पीछे की वजह भी बताना होगा। इसके अलावा उपभोक्ताओं के लिए जारी टोल फ्री नंबर पर 1912 शिकायत और इसकी संख्या भी देनी होगी।

मुख्य अभियंता गाज़ियाबाद व नोएडा आरके राणा ने बताया कि, प्रदेश के कई बड़े शहरों को नो ट्रिपिग जोन में रखा है, जिनमें 24 घंटे विद्युत आपूर्ति के आदेश हैं। बावजूद इसके ऐसे शहरों में अघोषित विद्युत कटौती के साथ ही बार-बार कट लगना आम बात है। इसके लिए विद्युत विभाग की ओर से टोल फ्री नंबर 1912 जारी किया गया, जहां उपभोक्ता इस तरह होने वाली विद्युत कटौती व कट की शिकायत दर्ज करा सकते हैं। नंबर जारी होने के बाद काफी संख्या में लोगों ने इस पर अपनी प्रतिक्रियाएं दीं, जिसके चलते विभाग की ओर से प्रदेश के इन शहरों में विद्युत सप्लाई मॉनिटरिग शुरू की गई है। इसमें पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम में गाज़ियाबाद, नोएडा व मेरठ शहर भी शामिल हैं। इन शहरों में 24 घंटे निर्बाध विद्युत सप्लाई के आदेश हैं। यहां विद्युत आपूर्ति बाधित व ट्रिपिग होने की स्थिति को लेकर सप्लाई मॉनिटरिग शुरू की गई। ऐसा होते पाए जाने पर संबंधित जनपद के मुख्य अभियंता को इसके लिए जवाब देना होगा। वहीं, टोल फ्री नंबर पर आने वाली शिकायतों की संख्या व विवरण भी ऑनलाइन देना होगा। आरएमयू (रिंगमेन यूनिट) सिस्टम से किसी फीडर में होने वाले फाल्ट से दूसरे इलाके में आपूर्ति जारी रहेगी।

उन्होने बताया कि, अगर अंदर किसी केबल में फॉल्ट होता है तो सिर्फ उसी इलाके की बिजली गुल होने पर बाकी में फॉल्ट का कोई असर नहीं होगा। कंपनी कर्मी भी फीडर बाक्स से बिजली की सप्लाई बंद कर फॉल्ट की मरम्मत हो जाती है। इससे होने वाली निर्बाध विद्युत आपूर्ति में कटौती में कमी आई है। किसी मेजर वजह से ही कट लिया जा रहा है।

व्हाट्सएप के माध्यम से हमारी खबरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *