ताज़ा खबर :
prev next

वर्ल्ड अर्थ डे : जानिए क्यों और कब से मनाया जा रहा है पृथ्वी दिवस

आज 22 अप्रैल यानी विश्व पृथ्वी दिवस है। पृथ्वी पर रहने वाले तमाम जीव-जंतुओं और पेड़-पौधों को बचाने तथा दुनिया भर में पर्यावरण के प्रति जागरुकता बढ़ाने के लक्ष्य के साथ 22 अप्रैल के दिन ‘पृथ्वी दिवस’ यानी अर्थ डे मनाने की शुरूआत की गई थी। इस खास मौके पर गूगल भी डूडल बनाकर विश्व पृथ्वी दिवस मना रहा है। डूडल पर क्लिक करने के बाद आप एक वीडियो देख सकते हैं।

विश्व पृथ्वी दिवस 22 अप्रैल 1970 से मनाया जा रहा है। इसकी शुरुआत एक अमेरिकी सीनेटर गेलॉर्ड नेल्सन ने की थी। साल 1969 में कैलिफोर्निया के सांता बारबरा में तेल रिसाव के कारण भारी बर्बादी हुई थी, जिससे वह बहुत आहत हुए और पर्यावरण संरक्षण को लेकर कुछ करने का फैसला लिया।

22 जनवरी को समुद्र में तीन मिलियन गैलेन तेल रिसाव हुआ था, जिससे 10,000 सीबर्ड, डॉल्फिन, सील और सी लायन्स मारे गए थे। इसके बाद नेल्सन के आह्वाहन पर 22 अप्रैल 1970 को लगभग दो करोड़ अमेरिकी लोगों ने पृथ्वी दिवस के पहले आयोजन में भाग लिया था। इस दिन को पृथ्वी दिवस के तौर पर मनाने का सबसे बड़ा मकसद लोगों को याद दिलाना होता है कि पृथ्वी और इसका पर्यावरण हमें जीवन प्रदान करता है। इस दिन पर्यावरण संरक्षण और पृथ्वी को बचाने का संकल्प लिया जाता है।

विश्व पृथ्वी दिवस 2019 की थीम

इस साल की थीम है- Protect Our Species यानी कि जीवों की नस्लों के साथ-साथ पेड़-पौधों की रक्षा करें।

ऐसे दें आप भी पृथ्वी बचाने के लिए अपना योगदान

कचरा कम से कम फैलाएं            

हर साल दुनियाफर में बेशुनार कचरा पैदा होता है। प्लास्टिक को ही ले लीजिए इससे बनी चीजों को विघटित होने पर 450 साल से भी ज्यादा वक्त लग जाता है। तो इसकी जगह आप ऐसी चीजें खरीदें जिसमे प्लास्टिक का यूज न हुआ हो।

लगाएं अधिक पेड़
अधिक प्रदूषण और अधिक मात्रा में पेड़ों की कटाई के कारण दिनों-दिन पेड़ों की संख्या कम होती जा रही है। जिससे कि आने वाले सम में सांस लेना भी दुभर हो जाएगा। इसलिए अधिक से अधिक पेड़ों को लगाएं।

कम बिजली का करें इस्तेमाल
दिन को जरुरत न हो चो लाइट का इस्तेमाल न करें। इससे बिजली उत्पादन में बहुत ही कम प्राकृतिक संसाधन का खर्च होगा।

बेकार में पानी न बहाए
जरुरत हो उतना ही पानी बहाएं। ज्यादा पानी बहाना आने वाले समय में आपको पानी से मोहताज कर सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *