ताज़ा खबर :
prev next

मानवता शर्मसार : अलवर गैंगरेप पीड़िता की आपबीती पढ़कर आपके भी रोंगटे हो जाएंगे खड़े

राजस्थान के अलवर से मानवता को शर्मसार कर देने वाली खबर सामने आ रही है। यहां दलित महिला से गैंगरेप की घटना ने एक बार फिर महिलाओं की सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े किए हैं। वहीं, पुलिस पर भी मामले में लापरवाही बरतने का आरोप है। घटना के 10 दिन से अधिक समय बीत जाने के बाद भी सभी आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है, जिसे लेकर लोगों में भारी नाराजगी है।

पीड़‍िता ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि 26 अप्रैल को दोपहर के वक्‍त जब वह पति के साथ बाइक से शादी की शॉपिंग के लिए जा रही थी, तभी थानागाजी के पास पांच लोगों ने उन्‍हें जबरन रोक लिया और खींचकर पास के रेत के टीले पर ले गए, जहां दो लोगों ने उसके पति को बंधक बना लिया और उसे पीटते रहे, जबकि तीन अन्‍य ने महिला के साथ बारी-बारी से दुष्‍कर्म किया। बाद में उन दोनों ने भी उसके साथ रेप किया। इस दौरान दरिंदों ने महिला की भी बुरी तरह पिटाई की। इस बीच उन्‍होंने दंपति की बाइक को एक गड्ढ़े में धक्‍का देकर लुढका दिया था।

तीन घंटों तक उसके साथ दरिंदगी होती रही, उसे और उसके पति को पीटा गया और उनके कपड़े फाड़ दिए गए। आरोपियों ने उनके पास से पैसे भी छीन लिए और घटना का वीडियो भी बनाया, जिसे सोशल मीडिया पर अपलोड नहीं करने के लिए उन्‍होंने उनसे फिरौती भी मांगी। उन्‍होंने पैसे दिए भी, इसके बावजूद आरोपियों ने घटना का एक वीडियो और कुछ आपत्तिजनक तस्‍वीरें व्‍हाट्स एप ग्रुप पर शेयर कर दीं, जो देखते ही देखते सोशल मीडिया पर वायरल हो गईं।

इतना ही नहीं, आरोपियों ने इस शर्मनाक वारदात का वीडियो भी बना लिया था, जिसे सोशल मीडिया पर अपलोड कर देने की धमकी देते हुए उन्‍होंने दंपति से फिरौती की भी मांग की। वीडियो डिलीट करने की बात पर महिला के पति ने उन्‍हें कुछ पैसे भी दिए, लेकिन जब आरोपियों ने दूसरी बार पैसे की मांग की तो उन्‍होंने पुलिस से संपर्क किया।

हालांकि पुलिस पर भी लापरवाही बरतने का आरोप भी लगा है, जिसे लेकर लोगों ने यहां विरोध-प्रदर्शन भी किए हैं। मामले के तूल पकड़ने के बाद थानागाजी पुलिस थाने के थानाधिकारी को निलंबित दिया गया है। मंगलवार देर शाम एक आरोपी इंद्रराज गुर्जर को गिरफ्तार भी किया गया। एक अन्‍य युवक को वीडियो व्‍हाट्स एप ग्रुप पर डालने के लिए गिरफ्तार किया गया, जबकि अन्‍य आरोपी अब भी फरार हैं।

प्रदेश के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत और उपमुख्‍यमंत्री सचिन पायलट ने दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की बात कही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *